वैक्सीनेशन के बाबजूद भी आपको बरतनी होगी ये सभी जरूरी सावधानी, तभी आप कर सकते हैं खुद का संक्रमण से बचाव..

पिछले साल कोरोना संक्रमण के आने के बाद से ही पूरी दुनियाभर के कई सारे देश कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने की तैयारी में जुट गए थे। जिससे की इस खतरनाक वायरस के बढ़ते प्रसार को रोका जा सके। क्योंकि डॉक्टर्स से लेकर एक्सपर्ट्स तक का यही मानना है कि कोरोना की वैक्सीन ही फिलहाल कोरोना को रोकने का एकमात्र कारगर उपाय है। लेकिन अभी कई ऐसे मामले देखने और सुनने को मिल रहे हैं जिसमें की वैक्सीन लेने के बाबजूद ही कई सारे लोग संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। तो इसके लिए वैक्सीन को दोष देना पूरी तरह से गलत है। बल्कि इसकी सबसे मुख्य वजह लोगों की लापरवाही है। तो आपको बता दे संक्रमण से बचे रहने के लिए वैक्सीन लगने के बाद भी सभी लोगों को मास्क पहनना , हाथ धोना जारी रखना चाहिए, और इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना बेहद जरुरी है।

वैक्सीन लेने के बाद कोरोना संक्रमण की दर बेहद कम

बता दे कि न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में छपी रिसर्च के मुताबिक, यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास साउथवेस्टर्न मेडिकल सेंटर में 8121 कर्मचारियों ने कोविड-19 का वैक्सीन लगवाया था। वही इनमें से महज 4 में बाद में संक्रमण देखने को मिला। वहीं, 14,990 कर्मचारियों को यूसी सैन डिएगो हेल्थ एंड डेविड जेफेन स्कूल ऑफ मेडिसिन में टीका लगाया गया, दूसरी डोज के कुछ हफ्तों बाद संक्रमण के केबल 7 ही मामले सामने आए।

जानिए इसलिए वैक्सीन लेना है जरूरी

तो अगर आपको ऐसा लगता है कि वैक्सीन लगवाने से संक्रमण का खतरा पूरी तरह से खत्म हो जाता है तो फिर आप गलत है। जानकारी के लिए आप को बता दे कि कोई भी मौजूदा वैक्सीन इंफेक्शन से 100% सुरक्षा की गारंटी नहीं देती।

वही वैक्सीनेशन के बाद आपकी बॉडी इस खतरनाक वायरस के जानलेवा परिणामों से बचाने का काम करती है। इसलिए वैक्सीन लगवाने के बाद भी आपको कोरोना के लिए जारी सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना बेहद जरुरी है।

जरा सी लापरवाही आपको तो संक्रमित करेगी ही और आपके साथ ही कई औरों को भी संक्रमित करेगी।

वही वैक्सीन कोविड-19 इंफेक्शन के बढ़ते प्रसार को घटाती है, इसलिए इसकी तय खुराक लेना आपके लिए बहुत ही जरूरी है।

वैक्सीन लेने के बाद भी संक्रमित होने की सही वजह

– अपने आप को इम्यून समझकर मास्क पहनने, हाथ धोने, सैनेटाइजर का यूज करने और साथी सोशल डिस्टेंसिंग पर सुरक्षा उपायों का पालन नहीं करना।

– वैक्सीनेशन के बाद डॉक्टर्स द्वारा बताए गए सभी जरूरी एहतियातों का पालन नहीं करना ।


– आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होने की वजह से।

– वैक्सीन की दूसरी खुराक समय पर नहीं लेना या फिर उसे लगवाना ही नहीं।

– 80 से 90 परसेंट तक आबादी के टीकाकरण तक सर्तकता बनाए रखना जरूरी।

Leave a Comment