पश्चिमी विक्षोभ की कमजोर सक्रियता व आसमान साफ रहने के अधिक गर्मी पड़ रही है। हालांकि, अगले सप्ताह पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना है। वहीं अगले 24 घंटे के दौरान पहाड़ों पर बर्फबारी व हल्की बारिश होने की संभावना है। पहाड़ों पर बर्फबारी होने से मैदानी इलाकों में भी अधिकतम तामपान में कमी आएगी क्योंकि उत्तर दिशा से ठंडी हवाएं चलनी शुरू होंगी।

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में अधिकतम के साथ न्यूनतम तापमान में भी इजाफा होने की वजह से सुबह व रात में गर्मी महसूस की गई। वहीं, अधिक तपिश के कारण दिन में लोगों के पसीने छूटने लगे हैं। पिछले 24 घंटों में हवा में नमी का अधिकतम स्तर 94 व न्यूनतम 44 फीसद रहा।

पश्चिमी विक्षोभ व चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है

पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर से आगे पूर्वी दिशा में चला गया है। इसके प्रभाव से विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिमी राजस्थान और इससे सटे पाकिस्तान के ऊपर दिखाई दे रहा है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र इस समय लक्षद्वीप और मालदीव के पास विकसित हो गया है। दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी और उत्तरी तटीय श्रीलंका के पास भी एक चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है।

इन राज्यों में बारिश व बर्फबारी की संभावना

स्काईमेट वेदर के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। जबकि जम्मू कश्मीर और लद्दाख में जारी बारिश और हिमपात की गतिविधियों में अब कमी आ जाएगी। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम और अरुणाचल प्रदेश में हल्की बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर मध्यम बौछारें गिरने की संभावना है। केरल में भी एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा हो सकती है।