Vaccination Blood Clotting: भारत में वैक्सीन से ब्लड कलॉटिंग के मामले आ रहे हैं सामने , ऐसे करें इसके लक्षणों की पहचान

Vaccination Blood Clotting: आपको बता दें कि भारत में covid-19 वैक्सीनेशन की शुरुआत जनवरी 2021 में हुई थी, तब से लेकर 23000 से ज्यादा एडवर्स इफेक्ट के मामले अब तक सामने आ चुके हैं। बता दें कि ये मामले देश के 684 जिलों से हैं। जिनमें से 700 मामले गंभीर और बेहद गंभीर हैं। गंभीर और सीवियर मामलों की जांच जब एईएफआई कमेटी ने की तो उसमें से 26 मामले ब्लड क्लॉटिंग के सामने आए।

कोविशील्ड वैक्सीन से हो रही ब्लड क्लॉटिंग

आपको बता दें कि ब्लड क्लॉटिंग के सभी मामले उन लोगों के हैं, जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन ली है। वहीं, कोवैक्सीन को लेकर AEFI कमेटी को ब्लड क्लॉटिंग की अब तक एक भी शिकायत नहीं मिली है। कोविशील्ड के मामले में यूके में 4 मामले प्रति मिलियन और साथ ही जर्मनी में 10 मामले प्रति मिलियन ब्लड क्लॉटिंग की शिकायत आई है। अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एडवाइज़री जारी की है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की एडवाइज़री

आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने हेल्थ केयर वर्कर और खासकर कोविशील्ड लेने वाले लोगों के लिए एडवाइज़री जारी की है, ताकि वे ब्लड क्लॉटिंग के लक्षणों को लेकर सतर्क रहें। इसमें ये भी बताया गया है कि टीका लेने के 20 दिन तक ब्लड क्लॉटिंग के लक्षण दिख सकते हैं। जिसमें सीने में दर्द, सांस की तकलीफ, पेट में दर्द, कमज़ोरी, देखने में दिक्कत आदि शामिल हैं। अगर वैक्सीन लगने के बाद आपको ये लक्षण दिखते हैं, तो फिर आप तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें।

Leave a Comment