उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री CM YOGI ADITYANATH ने लिया बड़ा फैसला, अब अश्लीलता फैलाने वाले फिल्म मेकर्स को..

Utterpardesh के CM योगी आदित्यनाथ सरकार देश में बढ़ रही अश्ली लता को रोकने के लिए एक बहुत ही बड़ा निर्णय लेने जा रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा भोजपुरी फिल्मों और साथ ही गानों में बढ़ रहे, इस तरह के कंटेंट को रोकने के लिए यह फैसला लिया गया है। उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद (Uttar Pradesh Film Devlopment Board) के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) द्वारा दिए गए प्रस्ताव को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने यह निर्देश जारी किया है कि अब से अगर जो कोई भी भोजपुरी फिल्मों (Bhojpuri Films) में अश्ली लता परोसने की कोशिश करता है, तो फिर उस फिल्म को सरकार के द्वारा अनुदान नहीं दिया जाएगा। आपको बता दें कि बीते गुरुवार को राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से मुलाकात कर इस बात पर चर्चा कर रहे थे।

हमारे संस्कृति एवं समाज पर इसका पड़ रहा गलत प्रभाव

वही मुलाकात के दौरान फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी बनाए जाने को लेकर चल रहे कामकाज के बारे में जानकारी दी। साथ ही साथ उन्होंने आगे यह भी कहा कि भोजपुरी भाषा में बनने वाली फिल्मों और साथ ही गानों में फूहर्ता बढ़ती ही जा रही है। इससे हमारे समाज पर इसका काफी गलत प्रभाव भी पर रहा है। हमारे युवा पीढ़ी के ऊपर इसका असर बेहद तेज़ी से हो रहा है। राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने आगे यह भी बताया कि जब तक हम इस को लेकर सही कदम नहीं उठाएंगे। यह धीरे-धीरे और भी बढ़ता ही चला जायेगा।

कई फिल्मों की स्क्रिप्ट को पुनर्विचार के लिए भेजा गया

आपको बता दें कि राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से एक शोध के बारे में भी बताते हुए कहा है कि जिन 62 फिल्मों की स्क्रिप्ट का परीक्षण किया गया है उसमें से अधिकांश फिल्में ऐसी है, जिन पर रोक लगा दी गई है। राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने आगे वजह बताते हुए कहते हैं कि अधिकतर फिल्मों में फुहर्ता और अनैतिकता थी। साथी साथ यह भी कहा कि सरकार (Goverment) द्वारा बनाई गई नीतियों के ऊपर ये सारी फिल्में खरी नहीं उतरी। कुछ फिल्मों की स्क्रिप्ट को पुनर्विचार के लिए समिति के सदस्यों के पास दोबारा भेजा गया है। जिससे कि उसका गहन अध्ययन किया जा सके।

फ़िल्मों के अलावा अब वेब सीरीज के लिए भी नया कानून

आपको बता दें कि Covid-19 के समय वेब सीरीज (Web series) का प्रचलन बहुत ही तेजी से बढ़ा है। राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) से यह भी आग्रह करते हुए कहा कि वेब सीरीज (Web series) और टीवी सीरियल (TV Serial) को भी फिल्मों की तरह ही सब्सिडी (Subsidy) के दायरे में लाने की आवश्यकता है। इस पर मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi) ने कहा कि हम कुछ शर्तों के साथ इस पर आगे कानून बनाएंगे। राजू श्रीवास्तव (Raju Srivastava) ने आगे यह भी बताया है कि जब तक हम इस को लेकर सही कदम नहीं उठाएंगे, तो यह धीरे-धीरे बढ़ता ही चला जायेगा।

Leave a Comment