उत्तर प्रदेश: नशेड़ी कंप्यूटर ऑपरेटर ने 25 लोगों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव से पॉजिटिव बना दी

हरदोई जिले की भरखनी पीएचसी का है मामला
पीएचसी इंचार्ज आनंद शुक्ला ने कोरोना संक्रमण रिपोर्ट को भी गलत करार दिया

हरदोई- कोरोना का सैंपल हरदोई के विभिन्न अस्पतालों में एंटीजन टेस्ट होता है । कुछ सैंपल जांच के लिए लखनऊ भेजा जाता है। वहां की लैब से जांच भी होती है ।किंतु जांच रिपोर्ट कंप्यूटर डाटा फीडिंग गलत होने के कारण कुछ रिपोर्ट ऐसी गलत आती हैं कि जिस से पीड़ित व्यक्ति भयभीत हो जाता है।

हरदोई जिले के कई मामले में भी ऐसा ही हुआ है । कलेक्ट्रेट कर्मचारी में से तमाम लोगों ने बताया कि कम उम्र के जितने भी लड़के थे ,जो आज तक कभी बीमार नहीं हुए उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जबकि तमाम गंभीर बीमारियों से युक्त बुजुर्ग लोग जिनकी टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई ।अभी एक ताजा मामला भरखनी का आया है। 28 कोरोना रैपिड एंटी जेंट टेस्ट कराया गया।

धन्य हो भरखनी पीएचसी के कंप्यूटर ऑपरेटर जिन्होंने सभी को पॉजिटिव करार देकर उसकी रिपोर्ट डाटा फिटिंग में कर दी । पीएचसी भरखनी प्रभारी आनंद शुक्ला ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि रिपोर्ट गलत कंप्यूटर में फीड हो गई है। अब लोगों को इस बात पर भी संदेह होने लगा है कि उनके द्वारा दिए गए कोरोना सैंपल की रिपोर्ट वास्तविक रूप से सही बन भी रही है या गलत? इस पर भी लोगों को संदेह हो चला है। इसीलिए तमाम लोग करोना टेस्ट कराने से सीधे तौर पर बचते हुए दिखाई पड़ रहे हैं ।

Leave a Comment