कानपुर बालिका शेल्टर होम का बड़ा कांड, 2 नाबालिग बच्चियां गर्भवती,57 को कोरोना,और 1 को HIV, 8 महीने तक नहीं हुई भनक

BJP शासित उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) जिले से बड़ा मामला सामने आया है। यहां स्थित राजकीय बालिका गृह (Shelter Home) में दो नाबालिग लड़कियां प्रेग्नेंट हो गयी और आठ महीने तक इस बात की किसी को भनक तक नहीं लगी।


नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक मामला संज्ञान में तब आया जब बच्चियों की कोरोना जांच हुई। बड़ी बात तो ये है कि प्रेग्नेंट नाबालिगों में से एक एचआईवी से संक्रमित पाई गयी।

भाजपा नेता के बेटे ने नौकरी का झांसा देकर किया बलात्कार महिला हुई प्रेग्नेंट ?

कोरोना काल में कानपुर में बहुत बड़ा कांड– मुजफ्फरपुर शेल्टर होम काण्ड के बाद अब कानपुर के एक बालिका गृह से बड़ा मामला सामने आया है। यहां स्वरूप नगर क्षेत्र में स्थित राजकीय बाल संरक्षण गृह की दो नाबालिग बच्चियां गर्भवती पाई गयी हैं। एक बच्ची तो एचआईवी से संक्रमित भी है। ऐसे में एक बार फिर आश्रय गृहों पर सवाल खड़े हो गए हैं।

राजकीय बालिका गृह की 57 लड़कियां कोरोना पॉजिटिव

दरअसल, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलो को देखते हुए बालिका संरक्षण गृह में तीन दिन पहले बच्चियों का कोरोना टेस्ट हुआ था। यहां रह रही 57 बच्चियों में कोरोना के लक्षण दिखाई देने के बाद उनकी जांच के लिए मंधना के रामा हॉस्पिटल में सैंपल भेजे गए। जांच के बाद जब रिपोर्ट आयी तो सब दंग रह गए। सभी लड़कियां कोरोना पॉजिटिव पाई गयीं।

कोरोना संक्रमित 2 नाबालिग लड़कियां प्रेग्नेंट

हालाँकि इससे भी बड़ा खुलासा हुआ। इन बच्चियों में से दो नाबालिग गर्भवती है। ये बच्चियां आठ महीने की प्रेग्नेंट हैं। दोनों बच्चियों को शहर के जच्चा-बच्चा अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। अन्य संक्रमित बच्चियों को भी इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है.

एक बच्ची एचआईवी संक्रमित (HIV), दूसरी में हेपेटाइटिस-सी के लक्षण

जो दो बच्चियां प्रेग्नेंट पाई गयी हैं, उनमे से एक एचआईवी से ग्रसित हैं, वहीं दूसरी में हेपेटाइटिस-सी के लक्षण भी पाए गए। सवाल खड़े हुए कि नाबालिग बच्चियां प्रेग्नेंट कैसे हुई और प्रबंधन को इस बात का पता कैसे नहीं चला कि बच्चियां गर्भवती हैं?

Leave a Comment