TRP घोटाला: उद्योगपति राजीव बजाज ने Republic TV को किया ब्लैकलिस्ट, नही देंगे विज्ञापन

फर्जी टीआरपी के बल पर एडवर्टाइजिंग हथियाने वाले तीनों चैनलों पर विज्ञापन देनेवाली कंपनियों ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में ऑटो सेक्टर की दिग्गज कंपनी बजाज ऑटो ने रिपब्लिक भारत सहित तीनों चैनलों पर अपने विज्ञापन बंद करने का फैसला किया है। इससे आने वाले समय में इन तीनों चैनलों के रेवेन्यू पर बुरा असर पड़ सकता है।

इसे भी पढ़े : MP: घर में घुसकर 14 साल की लड़की से दरिंदगी, पीड़िता ने केरोसिन डालकर खुद को लगाई आग

दरअसल मुंबई पुलिस कमिश्नर ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि रिपब्लिक टीवी सहित तीन अन्य चैनल ने टीआरपी में छेड़छाड़ के लिए पैसे दिये हैं, इस संबंध में BARC ने शिकायत की थी, जिसके आधार पर मुंबई की क्राइम ब्रांच मामले की जांच कर रही है. पुलिस ने बताया BARC ने देश भर में 30 हजार से ज्यादा बैरोमीटर लगाये हैं।

जिनमें से मुंबई में तकरीबन 2000 बैरोमीटर हैं. इनके मेंटेनेंस का जिम्मा हंसा नामक एक एजेंसी को दिया था, यह एजेंसी पैसे लेकर टीआरपी के साथ छेड़छाड़ कर रही थी.इस फेक TRP मामले में मुंबई पुलिस कमिश्नर ने बताया कि रिपब्लिक टीवी और दो छोटे मराठी चैनल- फक्त मराठी और बॉक्स सिनेमा शामिल हैं.

इसे भी पढ़े : कानपुर: एक महीने से लड़की का पीछा कर रहा था भाजपा नेता, सरेआम जूते-चप्पलों से हुई पिटाई

जिसके बाद भारत के मशहूर और बड़े उद्योगपति ने एक घोषणा की जिसमें उन्होंने कहा कि अब उनकी कंपनी बजाज ऑटो का विज्ञापन इन तीन चैंनलों को नही दिया जाएगा. इसके साथ ही राजीव बजाज ने इन तीनो चैंनलों को अपने कंपनियों के विज्ञापन देने को लेकर ब्लैकलिस्ट कर दिया. उन्होंने बताया कि अब इन तीन चैंनलों को उनकी कंपनी कोई भी विज्ञापन नही देगी.

उन्होंने एक बातचीत के दौरान बताया की उनकी कंपनी ऐसे लोगो को विज्ञापन नही देगी जो समाज मे जहर फैला रहे है. आपको बता दे कि बजाज ऑटो के एमडी राजीव बजाज ने कहा कि हम ब्रांड की बिल्डिंग के बिजनेस में हैं और हमारा एक मजबूत ब्रांड का फाउंडेशन है जिस पर हमने मजबूत बिजनेस को खड़ा किया है।

अंत में हमारा उद्देश्य केवल एक मजबूत और सॉलिड बिजनेस का ही नहीं होता है, बल्कि इसके जरिए सोसाइटी को भी कुछ देना होता है। बजाज के रूप में, हम इस बात को लेकर स्पष्ट हैं कि हमारा ब्रांड कभी भी उन ब्रांड या किसी संस्थान के साथ एसोसिएट नहीं हो सकता है, जिनके बारे में कोई संदेह है।

इसे भी पढ़े : आगरा : 11 साल की मासूम से शराब पीकर दरिंदगी, चीखने पर आरोपी ने दबाया मुंह, थप्पड़ भी मारे

Leave a Comment