जम्मू-कश्मीर को लेकर हलचल हुई और भी तेज, फारूक, महबूबा और आजाद सहित इतने नेताओं को भेजा गया बुलावा

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव की अटकलों के बीच केंद्र शासित प्रदेश को लेकर हलचल और भी तेज हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के लिए 14 नेताओं को बुलावा भेजा गया है, जिनमें सूबे के 4 पूर्व मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि इन नेताओं को 24 जून को दिल्ली बुलाया गया है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पहली बार हो रही इस तरह की बैठक के लिए सभी नेताओं को Covid-19 की जांच रिपोर्ट भी साथ लाने को कहा गया है।

बता दे कि जम्मू-कश्मीर को लेकर आगे की योजनाओं पर चर्चा के लिए केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने इन सभी नेताओं से संपर्क किया है और साथ ही पीएम आवास पर मुलाकात के लिए भी सभी को आमंत्रित किया है। जिन नेताओं को बुलाया गया है कि नमें चार पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, साथ ही उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, वही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और साथ ही पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती भी शामिल हैं।

वही जम्मू-कश्मीर से पूर्व उपमुख्यमंत्री और साथ ही कांग्रेस नेता तारा चंद, पीपील्स कॉन्फ्रेंस लीडर मुजफ्फर हुसैन बेग और साथ ही भाजपा नेता निर्मल सिंह एवं कवींद्र गुप्ता को भी बुलाया गया है। इनके अलावा सीबीआई (एम) नेता मोहम्मद युसूफ तारागामी, जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के चीफ अल्ताफ बुखारी, पीपल्स कॉन्फ्रेंस के सज्जाद लोन, पैंथर्स पार्टी के नेता भीम सिंह को भी आमंत्रित किया गया है।

बता दे कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करके राज्य के विशेष दर्जे को खत्म करने और साथ ही इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद पहली बार इस तरह की बैठक हो रही है। बताया ये भी जा रहा है कि इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और साथ ही कुछ अन्य केंद्रीय नेता भी मौजूद रह सकते हैं। अटकलें है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने की भी तैयारी में हैं।

Leave a Comment