आपको बता दें कि महाशिवरात्रि के मौके पर एक महिला मंदिर में भगवान भोले नाथ के सामने मत्था टेकने गई थी पर उसे क्या पता था कि वह फिर कभी अपना घर लौट कर नहीं आएगी. यह पूरा मामला गोरखपुर के नौसढ़ चौकी अंतर्गत हरैया गांव की है.


जहां पर महाशिवरात्रि के मौके पर एक हैरान कर देने वाली घटना घटी है . दरअसल हरैया गांव की रहने वाली एक 60 साल की महिला मंदिर में पूजा- अर्चना के लिए गई थी, लेकिन जैसे ही महिला ने शिवलिंग पर अपना मत्था टेका वैसे ही उसके प्राण निकल गए. शिवलिंग के सामने महिला की मौत से गांव भर में लोग बेहद हैरान हो गए .


बता दे कि मृतक महिला विभक्ति देवी के घरवालों ने ये बताया कि विभक्ति देवी महाशिवरात्रि के मौके पर सुबह 4 बजे घर के पास बने भगवान भोले नाथ के मंदिर में पूजा करने के लिए गई थी.

और इस दौरान उनके पति भी उनके साथ थे. गवान भोलेनाथ का जलाभिषेक और पूजा करते ही विभक्ति देवी ने जैसे ही शिवलिंग पर अपना मत्था टेका और अचानक से उनके शरीर में हलचल बंद हो गई.

उस समय उनके साथ रहे पति ने उन्हें उठाने के लिए कई बार आवाज भी लगाई लेकिन वो नहीं उठ सकीं.

वही इसके बाद मंदिर में मौजूद कुछ अन्य लोग भी उन्हें तुरंत उठा कर अस्पताल ले गए, जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

महाशिवरात्रि के मौके पर गोरखपुर में हुई इस घटना की हर तरफ लोग काफी चर्चा कर रहे हैं और साथ ही हैरान भी हो रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here