पत्नी का सांवला रंग से इस कदर परेशान था पति , कि पहली पत्नी के साथ किया ये काम…

NAWADA: बिहार के नवादा जिले सिरदला थाना क्षेत्र के गोसाई बिगहा गांव में एक बेहद अजीबोगरीब मामला सामने आया है। जहां पर एक पति ने अपनी पहली पत्नी के रहने के बावजूद दूसरी शादी इसलिए रचायी क्यों कि उसे पत्नी का सांवला रंग पसंद नहीं था। 2 बच्चों के पिता होने के बावजूद भी उसने ऐसा कदम उठाया।

बिना किसी को बताये हुए उसने दूसरी शादी कर ली और साथ ही तब से वह फरार चल रहा है। पहली पत्नी ने अपने पति की काफी खोजबीन की लेकिन उसका कोई भी पता नहीं चल सका। और फिर थक हारकर वह महिला थाने गयी जहां अपने पति के खिलाफ उसने शिकायत दर्ज कराया और साथ ही कार्रवाई की भी मांग की। महिला थाने पहुंची पीड़िता अब न्याय की गुहार लगा रही है।

बताया जाता है कि मुन्ना रविदास ने पहली पत्नी के रहते हुए दूसरी शादी कर ली और फिर शादी के बाद वो फरार हो गया। वही 2 बच्चों के पिता की इस करतूत से गांव वाले भी बेहद हैरान हैं। इससे पहले जब मुन्ना रविदास ने दूसरी शादी की बात कही थी तब ग्रामीणों ने इस दौरान उसे काफी समझाया बुझाया लेकिन वह लोगों की बात मानने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं हुआ। पत्नी का सांवला होने की बात कह उसने दूसरी शादी रचा ली।

आपको बता दें कि दो बच्चों का पिता होने के बावजूद भी उसने दूसरी शादी की और फिर वो फरार हो गया है। पति के अचानक गायब होने के बाद महिला ने उसकी काफी खोजबीन की लेकिन जब उसका कोई भी पता नहीं चल सका। तब पीड़िता अपने दोनों बच्चों को लेकर महिला थाने पहुंची। दूसरी शादी किए जाने से नाराज पहली पत्नी महिला थाने पहुंची जहां पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया और साथ ही कार्रवाई की भी मांग की।

बता दे कि 2 बच्चोंं के पिता द्वारा इस तरह के कदम उठाए जाने से ग्रामीण भी पूरी तरह सदमे में है। मुन्ना रविदास की पहली पत्नी सोनम देवी का कहना है कि मेरा रंग काला है इसलिए वो मेरे पति ने एक और शादी कर ली है। इससे पहले उसने दूसरी शादी की बात कही थी जिसका उसने विरोध भी किया था और साथ ही गांव वालों ने भी उसे समझाने की कोशिश की थी।

लेकिन उसने किसी की एक ना सुनी और शादी करने के बाद वो फरार हो गया। अब दो बच्चों को लेकर महिला थाने का चक्कर लगा रही है। पीड़िता पुलिस से न्याय की गुहार लगा रही है। वही अब महिला को यह चिंता सताने लगी है कि अब उसके बच्चों का भरण पोषण कैसे होगा। वही मासूम बच्चे अपने पिता के घर लौटने के इंतजार में बैठे रहते है। इलाके के लोग मुन्ना रविदास के इस कदम को गलत ठहरा रहे हैं।

Leave a Comment