PATNA : बिहार की राजधानी पटना से एक बहुत ही चौकाने वाला मामला सामने आया है जहां पर 2 दिन पहले जिस लड़की का अंतिम संस्कार हुआ उसी लड़की ने फेसबुक पर लाइव आकर सबको बेहद हैरान कर दिया है. इस घटना के बाद से पूरा हडकंप मच गया है.

दरअसल राजधानी पटना के गौरीचक थाना के अंडारी गांव में 6 जुलाई को हत्या कर फेंके गए किशोरी के शव की पहचान पर सस्पेंस अब भी बरकरार है. वही पहचान का दावा करने पर किशोरी के शव को अंडारी गांव में रह रहे परिजनों को सौंप दिया गया था. बता दे कि किशोरी की मां ने पड़ोसी राकेश कुमार पर अपहरण का आरोप भी लगाया था कि उसने उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया और फिर उनकी बेटी को मार डाला.

इतना ही नहीं बल्कि उसने शव को भी एक तालाब मैं फेंक दिया था. बता दे कि ग्रामीणों की उस पर नजर पड़ने के बाद पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस ने मौके पर आकर शव बरामद करने के बाद उसकी पहचान कराई तो किशोरी की मां ने उसे अपनी बेटी बताया. इसके बाद 10 जुलाई को उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया था.

किशोरी की मां हत्यारे की गिरफ्तारी के लिए फरियाद लेकर दर-दर भटक रही थी. इधर थानेदार लालमणि दुबे ने बताया कि किशोरी की मां ने जिस शव का अंतिम संस्कार किया है वह शव उसकी बेटी का था ही नहीं . क्योंकि उनकी बेटी ने 12 जुलाई को अपने प्रेमी के साथ अपने फेसबुक पर लाइव आकर कहा था कि वह अभी भी जिंदा है. उसे और साथ ही उसके प्रेमी को बिल्कुल भी तंग न किया जाए. यह फेसबुक दोस्तों को भी शेयर किया था.

थानेदार ने आगे कहा कि जांच के बाद ही मालूम हो पाएगा जिस शव का अंतिम संस्कार किया गया है, वह वाकई में उसी की बेटी का था या फिर किसी और का . इसी के साथ इस पूरे मामले पर कई सवाल भी खड़ा हो गया है कि अगर वह लड़की जिंदा है तो जिसका दाह संस्कार किया गया वह कौन थी. उसकी हत्या के पीछे अखिर किसका हाथ था और कारण क्या था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है जिसके बाद बहुत कुछ स्पष्ट होने की आशंका जताई जा रही है.