आपको बता दें कि 27 फरवरी यानी रविदास जयंती (Ravidas Jayanti) के मौके पर भीम आर्मी के द्वारा एक जुलुस निकाला गया था! लेकिन निकाले गए जुलुस में एक बड़ा हादसा हो गया जिसके अंदर करीब दर्जन भर लोग झुलस गए! वही ऐसे में दो युवक को गंभीर अवस्था में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा पहुंचाया गया जहां से उनको जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया! ऐसे में स्थानीय लोगो ने ये आरोप लगाया है कि जुलूस बिना प्रशासन की अनुमति से ही निकाला गया था!

बता दे कि रविदास जयंती के मौके पर बलिया जिले के बैरिया थाना क्षेत्र के भीखा छपरा गांव में शनिवार को संत रविदास की प्रतिमा को स्थापित किया जा रहा है उसे ही मनाने के लिए भीम आर्मी के द्वारा एक बड़ा जुलूस निकाला गया था! आरोप ये है कि इस जुलूस में भीम आर्मी के युवक लाठी-डंडे और साथ ही तलवार भी लेकर आए हुए थे और अपना करतब दिखाते हुए चल रहे थे! वही इस दौरान मुंह के अंदर से पेट्रोल डालकर करतब दिखाने के चक्कर में ही करीब दर्जन भर लोग आग की चपेट में आ गए!

बता दे कि ऐसे में सभी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा पहुंचा दिया गया है! इसमें प्रेम कुमार और साथ ही सुधीर उपाध्याय गंभीर रूप से झुलस गए! ऐसे में दोनों युवक को सीएससी से जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है! उधर जुलूस निकालने के बाबत उप जिलाधिकारी बेरिया प्रशांत कुमार नायक ने ये बताया है कि उनके कार्यालय से प्रतिमा स्थापना या जुलूस निकालने को लेकर किसी भी प्रकार की कोई भी अनुमति नहीं दी गई थी!