गुंडाराज: आतंकवादी विकास दुबे ने की पुलिस पर फायरिंग, जब पुलिस ही नहीं सुरक्षित तो जनता कैसे सुरक्षित होगी ? 8 पुलिसकर्मी शहीद

उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार है वहां भले ही रामराज ना हो पर गुंडाराज सर चढ़कर बोल रहा है. विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस की टीम पर हमला हुआ जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए और कई पुलिसकर्मी अभी तक लापता है, तो ऐसे में सवाल उठता है कि बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश जहां के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं जब वहां पुलिस ही नहीं सुरक्षित रहेगी तो जनता कैसे सुरक्षित रहेगी.

कानपुर में देर रात शातिर बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुई ताबड़तोड़ फायरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए। एडीजी जय नारायण सिंह ने घटना की पुष्टि की है। चार पुलिसकर्मी घायल भी हैं। कई सिपाहियों को बेहद गंभीर हालत में रीजेंसी भर्ती कराया गया है और कई पुलिसकर्मी लापता हैं। पुलिस के आलाधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है।

घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। आपको बता दें कि गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी। बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके 8-10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं। 

Vikash Dubey

गोलीबारी में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव शहीद हो गए। उनके साथ करीब आठ पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं। जबकि एसओ बिठूर, एक दरोगा समेत कई पुलिसकर्मियों को गोली भी लगी है। जिन्हें गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कई पुलिसकर्मी लापता बताए जा रहे है

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर की इस घटना में मारे गए पुलिसकर्मियों के प्रति शोक और उनके परिजनों से संवेदना प्रकट की है। योगी ने घटना की रिपोर्ट तलब की है और साथ ही डीजीपी एचसी अवस्थी से अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। एसओ कौशलेंद्र के एक गोली जांघ और दूसरी हाथ पर लगी। इसके अलावा सिपाही अजय सेंगर, अजय कश्यप, सिपाही शिवमूरत, दरोगा प्रभाकर पांडेय, होमगार्ड जयराम पटेल समेत सात पुलिसकर्मियों को गोलियां लगीं।

सेंगर और शिवमूरत के पेट में गोली लगी। दोनों की हालत गंभीर है। सूचना के बाद कई थानों की फोर्स गांव पहुंची और घायलों को लेकर रीजेंसी अस्पताल लाया गया। सूत्रों ने बताया कि जिस तरीके से हमला हुआ, उससे आशंका है कि बदमाशों को पुलिस की दबिश की भनक मिल गई थी। जिस कारण उन्होंने तैयारी करके पुलिस पर हमला किया।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश और योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है उन्होंने ट्वीट किया

इस खबर के आने के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग कह रहे हैं कि से अपराधी क्यों जब पुलिस ने हमला किया जिसमें 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए तो इसे आतंकवादी क्यों ना कहा जाए

Leave a Comment