त्योहार के सीजन में प्याज का दाम आसमान छू रहे हैं, महंगाई से जनता परेशान है कि कहीं त्योहार का मजा फीका ना पड़ जाए। ऐसे में तेजस्वी यादव चुनावी माहौल में प्याज का तड़का लगाने उतर चुके हैं, तेजस्वी चुनाव प्रचार में प्याज की माला पहने नजर आए और नीतीश सरकार को आड़े हाथों लिया।

प्याज के बढ़ते दाम जनता को रुला रहे हैं, त्योहार के सीजन में महंगाई देखकर आम आदमी परेशान है कि आखिर त्योहार कैसे मनाए जाएंगे सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं और रही कसर प्याज ने भी पूरी कर दी है। प्याज के दामों को लेकर सरकार पर सवाल उठाए ही जा रहे थे कि अब प्याज ने बिहार की राजनीति में इंट्री ले ली है, महागठबंधन को चुनौती देने में राष्ट्रीय जनता दल का नेतृत्व कर रहे ।

तेजस्वी यादव ने प्याज की माला पहनकर चुनाव प्रचार में उतरे और केंद्र सरकार और नीतीश सरकार को जमकर घेरा। चुनाव में बेरोजगारी, कमजोर अर्थव्यवस्था, महंगाई जैसे मुद्दे तो उठ ही रहे थे कि अब प्याज का मसला भी गर्म होता जा रहा है, पूरे देश में प्याज के दाम ₹100 प्रति किलो के ऊपर चल रहे हैं कई शहरों में प्याज के दाम 140 से 150 रुपए प्रति किलो के दाम पर पहुंच गए हैं।

जिसपर तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर तंज कसा उन्होंने कहा कि महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है, बीजेपी के लोग प्याज की माला पहनते थे अब यह ₹100 किलोग्राम के पास पहुंच रहा है, बेरोजगारी भुखमरी बढ़ रही है, छोटे कारोबारी बर्बाद हो रहे हैं गरीबी बढ़ रही है, जीडीपी घट रही है, हम आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्र की मोदी सरकार को महंगाई के मुद्दे पर घेरते हुए तेजस्वी ने सवाल पूछा कि बढ़ती महंगाई पर चुप क्यों हैं उनके मुंह में दही क्यों जमी हुई है।