हैदराबाद पुलिस ने डॉक्टर दिशा के साथ रेप के बाद हत्या के आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया था अभी कुछ दिन पहले ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में साल 2012 के निर्भया गैंगरेप के दोषियों को फांसी भी दे दी गई| इन सब के बावजूद मासूम बच्चियों, महिला और युवतियों के साथ हैवानियत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही| अब केरल में चौथी कक्षा में पढ़ने वाली मासूम बच्ची का यौन शोषण किए जाने की खबर सामने आई है जिसका आरोपी भाजपा से जुड़ा है|

खबरों के अनुसार चौथी क्लास में पढ़ने वाली लड़की ने पुलिस को एक बयान दिया था कि उस व्यक्ति उसके शिक्षक जो कि वहां के स्थानीय भाजपा नेता भी हैं) उसे जनवरी में छुट्टी के दिन स्कूल में यह कहते हुए बुलाया था कि कुछ अतिरिक्त पाठ्यक्रम का काम है और शौचालय में ले जाने के बाद कथित तौर पर उसका यौन उत्पीड़न किया लड़की ने पुलिस से यह भी कहा कि अगर वह किसी और से इस घटना के बारे में बात करती है या बताती है तो वह उसे जान से मारने की धमकी देता था|

आरोपी शिक्षक

यह मामला केरल की कन्नूर पुलिस ने बुधवार को एक शिक्षक को चौथी क्लास की एक बच्ची के साथ बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया आरोपी शिक्षक स्थानीय भाजपा नेता भी है| आरोपी के गिरफ्तारी के बाद वहां के कुछ संगठनों और राजनीतिक दलों ने निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि हम लोगों ने 1 महीने पहले शिकायत दर्ज किया था उसके बावजूद आरोपी व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया गया था|

जनवरी और फरवरी के महीनों में अपने स्कूल की कक्षा चार की छात्रा के साथ बलात्कार करने का आरोप कन्नूर में त्रिपुनित्तूरा स्थानीय समिति के अध्यक्ष पद आ राजन के ऊपर लगा था| पनूर पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने बच्चे के माता-पिता द्वारा 17 मार्च को उसके खिलाफ मामला दर्ज करने के बावजूद उसे गिरफ्तार नहीं किया गया था पुलिस द्वारा उस व्यक्ति को गिरफ्तार करने में देरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज हो गया था पुलिस की ओर से कार्रवाई में देरी के खिलाफ सामाजिक न्याय विभाग के मंत्री के के शैलजा तक सामने आए थे|

केरला से लेकर पूरे देश में अभी लॉक डाउन का दूसरा चरण चल रहा है| इसी दौरान पुलिस की ओर से हो रही देरी से लोग परेशान थे जबकि इस समय आरोपी के बाद भागने का कम मौका था मंगलवार को स्वास्थ्य सामाजिक न्याय और महिला एवं बाल विकास मंत्री के के शैलजा ने पुलिस को यह कहते हुए लताड़ लगाई थी कि उन्हें पुलिस विभाग का फायदा उठाकर शोषण नहीं करना चाहिए| वहीं आरोपी भाजपा नेता की गिरफ्तारी में दिखाई जा रही देरी को लेकर मंत्री केके शैलजा जोकि कुठुपारंबा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं उनके फेसबुक पर पेज पर सरकार की आलोचनाओं करते हुए टिप्पणियों से भरे पड़े थे कई लोगों ने टिप्पणी किया किया मंत्री के के शैलजा के निर्वाचन क्षेत्र में भी आता है जिन्हें सरकार में सबसे प्रतिभाशाली मंत्री कहा जाता है यह जगह पूर्व मंत्री के पी मोहनन के घर से 3 किलोमीटर की दूरी भी नहीं है लेकिन किसी को भी उस 9 साल की बच्ची की न्याय की आवाज नहीं सुनाई दे रही| यह डरावना है कि पॉक्सो मामला होने के बाद भी पुलिस उसे नहीं पकड़ पा रही है|

बुधवार को गिरफ्तारी के बाद डिप्टी एसपी ने मीडिया को बताया कि लॉक डाउन के कारण गिरफ्तारी में देरी हुई उन्होंने बताया पूछताछ सुचारु रुप से आगे बढ़ रही थी लेकिन फिर कोरोना महामारी के प्रकोप के बाद लॉक डाउन के कारण हम मामले पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सके इसलिए गिरफ्तारी में देरी हुई है|