4 साल से बकाया था वेतन शिक्षक ने अपना गला काटकर लिखा भ्रष्टाचार मुर्दाबाद, देखें वीडियो

वेतन भुगतान में विभागीय अड़चनों से आजिज एक शिक्षक ने खुदकुशी करने की कोशिश की। उसने हाथ की नसें काटकर गर्दन भी रेत ली। जिला मुख्यालय डुमरा के हवाई अड्डा फील्ड में शनिवार शाम उसने इस तरह से जान देने की कोशिश की। फील्ड में क्रिकेट खेल रहे लड़के दौड़े और पट्टी बांधकर रक्तस्त्राव को रोकने की कोशिश की। तुरंत डुमरा थाना पुलिस को सूचना दी। बच्चों ने बताया कि यह शख्स अपनी बाइक से आए और बीच मैदान में बने मंच के पास खड़ी करके ब्लेड से जान देने की कोशिश करने लगा। खून से ही सीमेंटेड मंच की दीवार पर भ्रष्टाचार मुर्दाबाद लिख डाला। पुलिस ने बताया कि सालभर पूर्व भी उसने जहर खाकर खुदकुशी का प्रसास किया था।

पुलिस के अनुसार, युवक की पहचान बेला थाना क्षेत्र के नरगा मुजौलिया गांव निवासी महेंद्र साह के पुत्र संजीव कुमार साह (32) के रूप में हुई है। वह वर्तमान में अपने भाई सत्येंद्र साह के साथ शहर से सटे मेहसौल ओपी के बसवरिया लक्ष्मी नगर में रहते हैं। डुमरा प्रखंड के लपटी टोल प्राथमिक विद्यालय में 2013 से पंचायत शिक्षक है। तब से तीन साल तक ही उनको वेतन मिल पाया। विभागीय पेच के चलते आगे का वेतन नहीं मिल रहा है। पूर्व में भी खुदकुशी करने का प्रयास.

Video: DTW24News

डुमरा थानाध्यक्ष नवलेश कुमार यादव ने बताया कि गंभीर हालत में उसको सदर अस्पताल में भर्ती के लिए ले जाया गया। मगर, चिकित्सकों ने एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर के लिए रेफर कर दिया। इसी दौरान शिक्षक के स्वजन पहुंच गए। उन लोगों ने डुमरा शहर के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया है। वेतन भुगतान के लिए शिक्षक पूर्व डीएम रंजीत कुमार सिंह से भी मिले थे। मगर, तब भी कुछ नहीं हो पाया। जिसके चलते जहर खा लिया था। शनिवार को वेतन के सिलसिले में ही शिक्षा विभाग में गए थे। वहां से कोई जवाब नहीं मिलने पर निकलकर ब्लेड खरीद लिया।

डुमरा हवाई फील्ड में पहुंचकर अपनी होंडा साइन बाइक (बीआर-30के/0536) खड़ी कर दी। चेहरे पर मास्क भी लगाए हुए थे। मंच की सीढि़यों पर बैठकर ब्लेड से पहले हाथ की नसें काटी और गर्दन भी रेत लिया। इतने में वहां क्रिकेट खेल रहे बच्चों की नजर पड़ी तो वे दौड़े। क्रिकेट खेल रहे सूरज, मनीष कुमार ने बताया कि डुमरा थाने को फोन किया। मंच के पास खून से जमीन लाल हो चला था। डुमरा थाने को फोन करने पर थानाध्यक्ष नवलेश कुमार आजाद दलबल के साथ आए और शिक्षक को सदर अस्पताल ले जाया गया।

Leave a Comment