रजत शर्मा आखिर क्यों बाबा रामदेव के इतने मुरीद हैं.. रजत शर्मा अपने चैनल इंडिया टीवी को क्यों बाबा रामदेव और उनके प्रोडक्ट्स, उनकी दवाइयों के प्रमोशन में झोंके पड़े हैं… इसका राज खुल गया है… सोशल मीडिया पर रजत शर्मा को पत्रकारिता के पीछे का खेल उजागर होने के कारण लोग जमकर मजे ले रहे हैं और रजत शर्मा-इंडिया टीवी की थूथू कर रहे हैं…

देखें कुछ पोस्ट, ट्वीट, डाक्यूमेंट्स….

वहीं Girish Malviya ने अपने फेसबुक पर लिखा है

इंडिया टीवी वाले रजत शर्मा इस बार ‘आपकी अदालत’ में सवाल पूछने वाले के स्थान पर नहीं खड़े हैं बल्कि आज वह स्वयं कटघरे में बैठे हैं उनसे जनता सवाल पूछ रही है ……..सवाल ये है कि बताइए रजत शर्मा आप रुचि सोया में क्या कर रहे हैं आखिर ?…..मीडिया में काम करते करते नेताओं का तेल निकालते तो हमने आपको देखा था, ये सोयाबीन का तेल निकालना आप कब सीखे आप ? जनता जानना चाहती है ?

ये ही आज जनता की अदालत का सवाल है कि रजत शर्मा को बाबा रामदेव द्वारा खरीदी गई कंपनी में 19 दिसंबर 2019 को बतौर इंडिपेंडेंट डायरेक्टर किन सेवाओं के बदले बनाया गया है

रजत जी आपकी नेट पर डली प्रोफाइल में तो कहा गया है कि आपका जन्म बहुत ही ग़रीब परिवार में हुआ आपने बड़ी मुश्किल से दिल्ली विश्वविद्यालय से एम.कॉम किया जहाँ आप जेटली जी के संपर्क में आए फिर आप मीडिया में चले गए लेकिन मीडिया से ये रिफाइंड आयल निकालने कैसे चले गए

रजत शर्मा जी आपका जवाब तो देना होगा रुचि सोया के बारे में सभी जानते हैं किस प्रकार से कंपनी NLCT में गई जिस पर और उसे पहले अडानी जी से खरीदने वाले थे बाद में एन टाइम पर पतंजलि के एंट्री हुई और अंत समय में उसने अडानी को पीछे छोड़ते हुए रुचि सोया को हासिल कर लिया लेकिन हम पर्दे के पीछे की कहानी नहीं जानते जो आज पता चल रही है कि इस खेल के पीछे मीडिया और कारपोरेट का ऐसा ग़जब का गठजोड़ काम कर रहा है

आश्चर्य तो हमें भी बहुत हुआ जब तीन रु तक चला गया शेयर कुछ दिन पहले पंद्रह सौ के लगभग हो गया था रुचि सोया का शेयर पिछले 103 दिनों में 8818 फीसदी ऊपर चढ़ा ओर रुचि सोया, जो पिछले साल दिवालिया हो गई थी, अब मार्केट कैपिटल के लिहाज से स्टॉक एक्सचेंज की टॉप 60 कंपनियों में शामिल हो गयी

वैसे सेबी के नियमों के अनुसार किसी कंपनी में 25 फीसदी हिस्सेदारी पब्लिक की होना जरूरी है लेकिन 31 मार्च 2020 तक कंपनी में प्रमोटरों की हिस्सेदारी 99.03 फीसदी बनीं हुयी थी।

वैसे एक्सपर्ट को शेयरों में आई तेजी के पीछे कोई मजबूत कारण नहीं दिख रहा इसलिए एक्सपर्ट रुचि सोया के शेयर में इतनी तेजी के देखते हुए बाजार नियामक सेबी से जांच कराना चाहते हैं। इसके चलते ही पिछले 4 दिनों से रुचि सोया में लोअर सर्किट लग रहा है….पर अब बहुत कुछ क्लियर हो गया है ………

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here