राजस्थान राज्यसभा चुनाव कांग्रेस ने 2 सीट जीती, भाजपा का ही एक वोट रिजेक्ट हुआ

राजस्थान में कांग्रेस ने दो तथा भाजपा नेराज्यसभा की एकसीट पर जीत दर्ज की है।कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल को 64 वोट,नीरज डांगी को 59 वोट मिले। वहीं भाजपा केराजेन्द्र गहलोत को 54 वोट तथा ओंकार सिंह लखावत को 20 वोट मिले। साथ ही भाजपा का एक वोट रिजेक्ट हो गया,2 मतदाता अनुपस्थित रहे। कांग्रेस को 123 वोट मिलेजबकि भाजपा को 74 वोट मिले।

प्रदेश मेंसंसद के उच्च सदन की3 सीटों के लिए मतदान शुक्रवार को संपन्न हो गया। कुल 200 में से 198 वोट डाले गए। सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल तथा डूंगरगढ़ से सीपीएम विधायक गिरधारी लाल महिया अस्वस्थ होने के कारण वोट नहीं दे सके।दोपहर दो बजे तक 200 में से 193 वोट डाले जा चुके थे लेकिन इसके बाद कांग्रेस विधायक वाजिबअली के वोट डालने को लेकर भाजपा के ऑब्जेक्शन के कारण मतदान शाम चार बजे तक खिंचगया।

मतदान सुबह नौ बजे शुरू हुआ।सबसे पहले भाजपा व उसके सहयोगी विधायकबस से विधानसभा पहुंचे। पहला वोट भाजपा की ओर से तो अंतिम वोट कांग्रेस का रहा।कांग्रेस की ओर से सबसे पहला वोट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डाला। वहीं विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने भी वोट डाला।

इससे पहलेकांग्रेस केविधायक बसों से विधानसभा पहुंचे। सभी विधायक छह बसों से विधानसभा पहुंचे।मुख्यमंत्री विधायकों के साथ ही विधानसभा पहुंचे। विधानसभा पहुंचने पर सभी की स्क्रीनिंग की गई। शाम5 बजे से मतों की गिनती शुरू हुई। संख्या बल के हिसाब से कांग्रेस की दो और भाजपा की एक सीट पर जीत लगभग तय थी। हालांकि, दोनों ही दलों ने दो-दो प्रत्याशी मैदान में उतारे थे।

कांग्रेस उम्मीदवार

केसी वेणुगोपाल: दो बार लोकसभा सांसद रह चुके हैं। अभी पार्टी महासचिप के पद पर कार्यरत। नागरिक उड्‌डयन राज्यमंत्री रह चुके हैं।

नीरज डांगी: राज्य विधानसभा का तीन बार चुनाव लड़ चुके हैं। डांगी अभी कांग्रेस महासचिप के पद पर कार्यरत हैं।

भाजपा उम्मीदवार

राजेंद्र गहलोत: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह नगर जोधपुर से आते हैं। राजस्थान में मंत्री रह चुके हैं। इनका प्रत्याशी के तौर पर चयन भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने किया है

ओंकार सिंह लाखावत: राज्ससभा के पूर्व सदस्य। इनके नाम की घोषणा राज्यसभा चुनाव के नामांकन की तारीख से एक दिन पहले की गई।

Leave a Comment