राहुल गाँधी का मोदी से सीधा सवाल: 526 करोड़ का राफेल 1670 करोड़ रुपये का कैसे हुआ?

राफेल विमान के भारतीय बेड़े में शामिल होने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना को बधाई दी है. हालांकि राहुल गांधी ने राफेल विमान को लेकर मोदी सरकार से कई सवाल भी पूछे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार बताए कि 526 करोड़ का एयर क्राफ्ट 1670 करोड़ रुपये का कैसे हुआ? 126 की जगह 36 राफेल विमान क्यों खरीदे गए. HAL की जगह दिवालिया अनिल अंबानी को क्यों ठेका दिया गया?


राफेल विमान को लेकर कांग्रेस ने भी मोदी सरकार पर तंज कसा है. कांग्रेस की ओर से ट्वीट करके कहा गया, ‘राफेल आगमन पर वायुसेना को बधाई देते हुए आप भाजपा सरकार की गड़बड़ियों पर सवाल कर रहे हो, तो समझना अभी आपमें देशभक्ति जिंदा है. जय हिंद.’

रणदीप सुरजेवाला का ट्वीट  
इससे पहले, कांग्रेस ने बुधवार को राफेल लड़ाकू विमानों के पहले जत्थे के भारत आने का स्वागत किया और साथ ही यह भी कहा कि हर देशभक्त को यह पूछना चाहिए कि 526 करोड़ रुपये का विमान 1670 करोड़ रुपये में क्यों खरीदा गया। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘राफेल का भारत में स्वागत ! वायुसेना के जाबांज लड़ाकों को बधाई।”


बता दें कि भारतीय वायुसेना की ताकत आज से और बढ़ गई है. फ्रांस से उड़ान भरने के बाद 5 राफेल लड़ाकू विमान भारतीय जमीन पर पहुंच गए हैं. हरियाणा के अंबाला एयरबेस में बुधवार को राफेल विमान लैंड हुए, जहां उनका स्वागत वाटर सैल्यूट के साथ किया गया.

फ्रांस से मिलने वाली राफेल विमानों की ये पहले खेप है. इन विमानों ने मंगलवार को फ्रांस से उड़ान भरी थी, जिसके बाद ये UAE में रुके और बुधवार दोपहर को अंबाला पहुंचे. इस दौरान वायुसेना चीफ RKS भदौरिया भी मौजूद रहे.


उन्होंने कहा, ‘‘आज हर देशभक्त यह ज़रूर पूछे कि 526 करोड़ रुपए का एक राफेल अब 1670 करोड़ रुपये में क्यों ? 126 राफेल की बजाय 36 राफेल ही क्यों ? मेक इन इंडिया के बजाय मेक इन फ्रांस क्यों ? 5 साल की देरी क्यों ?” भारतीय वायु सेना के लिए ऐतिहासिक क्षणों के बीच बुधवार को राफेल लड़ाकू विमानों का पहला ज’त्था भारत पहुंच गया। फ्रांस से खरीदे गए ये राफेल लड़ाकू विमान अंबाला एयरबेस पर उतरे।

Leave a Comment