अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को किसानों, मजदूरों तथा देश की नींव को कमजोर करने वाला बताते हुए शनिवार को भरोसा जताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन कानूनों पर पुनर्विचार करेंगे ।

Read Also : गुजरात के डिप्टी सीएम पर चप्पल फेंकने वाले को पुलिस बता रही थी कांग्रेस कार्यकर्ता, निकला BJP कार्यकर्ता

राहुल गांधी रविवार को राजधानी रायपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास में राज्योत्सव कार्यक्रम को वीडियो लिंक के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। राहुल गांधी ने इस दौरान राज्य की जनता को बधाई दी और कहा, यह मुश्किल समय है। देश में कोविड महामारी तेजी से फैल रही है। ऐसे समय में जो कमजोर लोग होते हैं, उन्हें सबसे ज्यादा कठिनाई होती है। किसा, मजदूर, छोटे दुकानदार, हमारी माताएं, बहनें, हमारे युवा, इन्हें सबसे ज्यादा कठिनाई होती है।

उन्होंने कहा , ” देश में किसान की हालत के बारे में सभी को जानकारी है। हमें किसान, मजदूर, छोटे दुकानदारों की रक्षा करनी चाहिए। उनके साथ मिलकर खड़ा होना चाहिए, क्योंकि किसान और मजदूर इस देश की नींव हैं। अगर वह कमजोर होंगे तो नींव कमजोर होगी । यदि हम उनकी रक्षा करते हैं तब देश मजबूत होगा ।

Read Also : आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया, सरकार को नहीं पता, सूचना आयोग ने नोटिस जारी कर मांगा जवाब

इस दौरान उन्होंने कहा मैंने कुछ दिनों पहले बिहार में चुनावी भाषण में कहा था कि समर्थन मूल्य और मंडियों की जरूरी जगह है। यह किसानों और मजदूरों की रक्षा करते हैं। यदि इस व्यवस्था को खत्म कर देंगे तब हमारे किसान और मजदूर नष्ट हो जाएंगे। नींव कमजोर हो जाएगी। इसलिए हम कृषि से संबंधित तीन कानूनों के खिलाफ पूरे देश में लड़ रहे हैं।