PARAMBIR SINGH LETTER: सोमवार को बाम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने महाराष्ट के मुख्यमंत्री उद्धव सरकार (MAHARASTRA CM UDDHAV THAKREY ) को तगड़ा झटका दिया है। दरअसल बॉम्बे हाईकोर्ट (BOMBAY HIGH COURT) ने मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (PRAMVIR SINGH) की याचिका पर सुनवाई करते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल बाम्बे हाईकोर्ट (BOMBAY HIGH COURT) ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख (MAHARASHTRA HOME MINISTER ANIL DESHMUKH) के खिलाफ सीबीआई CBI जांच के आदेश दिए है। डॉ.जयश्री पाटिल की याचिका पर बॉम्बे HC ने (CBI) को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (PRAMVIR SINGH) द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (MAHARASHTRA HOME MINISTER ANIL DESHMUKH) के खिलाफ लगाए गए सभी भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए भी कहा है।

आपको बता दें कि परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (MAHARASHTRA CM Uddhav Thackeray) को एक चिट्ठी लिखी थी। वही इस चिट्ठी में परमबीर सिंह (PRAMVIR SINGH) ने एंटीलिया केस (Antilia case) में फंसे मुंबई पुलिस के बर्खास्त किए गए एपीआई सचिन वाजे (Sachin Waze) और साथ ही महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (MAHARASHTRA HOME MINISTER ANIL DESHMUK ) को लेकर बड़ा ही सनसनीखेज दावा किया था।

वही इस चिट्ठी में उन्होंने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख( MAHARASHTRA HOME MINISTER ANIL DESHMUKH) पर आरोप लगाते हुए ये कहा कि उन्होंने सचिन वाजे (SACHIN WAJE) से 100 करोड़ रुपये हर महीने वसुली करने को कहा था। उन्होंने आगे लिखा कि मुंबई पुलिस के क्राइम ब्रांच के इंटेलिजेंस यूनिट की जिम्मेदारी संभालने वाले ऑफिसर सचिन वाजे (SACHIN WAJE) को गृह मंत्री अनिल देशमुख (HOME MINISTER ANIL DESHMUKH) ने पिछले कुछ महीनों के दौरान अपने आधिकारिक आवास ज्ञानेश्वर पर भी कई बार बुलाया था। सचिन वाजे (SACHIN WAJE) को बार-बार गृह मंत्री अनिल देशमुख( HOME MINISTER ANIL DESHMUKH) के लिए पैसा इकट्ठा करने का भी निर्देश दिया गया था।