बाहुबली नेता शाहबुद्दीन के निधन पर तेजश्वी यादव ने कहा भगवान उन्हें जन्नत दे, तो लोगों ने जमकर लगाई क्लास….


आपको बता दें कि बिहार के चर्चित बाहुबली नेता शाहबुद्दीन (Shahabuddin) की मौत की खबर की पुष्टि अब तिहाड़ जेल प्रशासन ने कर दी है। तिहाड़ जेल के सुपरिटेंडेंट (SUPERINTENDENT) ने ये पूरी तरह से कंफर्म किया है की बाहुबली नेता शाहबुद्दीन (Shahabuddin) की मौत कोरोना (Covid-19) संक्रमण के वजह से हुई है। शाहबुद्दीन (Shahabuddin) की मौत की खबर के बाद बिहार के कई नेताओं ने बाहुबली नेता Shahabuddin को सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया है।

जानिए बाहुबली नेता शाहबुद्दीन के निधन पर तेजश्वी यादव ने क्या कहा

बता दे कि बाहुबली नेता शाहबुद्दीन (Shahabuddin) की मौत के बाद लालू प्रसाद (Lalu Parsad YADAV) यादव के बेटे तेजस्वी (Tejasvi Yadav) ने ट्विटर पर ट्वीट कर श्रद्धाजंलि देते हुए लिखा, “पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का कोरोना संक्रमण के कारण असमय निधन की दुःखद ख़बर पीड़ादायक है। ईश्वर उन्हें जन्नत में जगह दें, परिवार और शुभचिंतकों को संबल प्रदान करें। उनका निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। दुख की इस घड़ी में राजद परिवार शोक संतप्त परिजनों के साथ है।

बता दे कि एक बाहुबली के लिए लालू प्रसाद (Lalu Parsad YADAV) यादव के बेटे तेजस्वी (Tejasvi Yadav) के मन में इतनी श्रद्धा देख लोगों का गुस्सा उनपर फुट पड़ा। लोगों ने ट्विटर पर ही तेजस्वी यादव की जमकर क्लास लगानी शुरू कर दी।

वही राहुल द्विवेदी नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि ,

“आज बाबु जी को न्याय मिल गया , बाबा साहब का संविधान तो न्याय दिला नही पाया लेकिन प्रकृति ने दिला दिया।”

दलीप पंचोली नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि,

” जैसा बाप वैसा बेटा, न बाप को कभी चन्दा बाबू और इन जैसे अनेकों लोगों के दुःख से पीड़ा नहीं हुई जो इस गुंडे शाहबुद्दीन ने दिए और न अब बेटे को है। वैसे यह बात तो सही है कि गुण्डो की पार्टी को एक गुंडे के कम होने से अपूर्णीय क्षति तो हुई है।

जय प्रसाद झा नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा,

” ये क्या लिख दिए तेजस्वी यादव संवेदना तक तो ठीक है लेकिन ‘उनका निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है’ यह किस तरह का क्षति है ? एक तिहार जेल का कैदी जिसे माननीय न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी उसकी मृत्यु हुई है।


आशीष रंजन ने लिखा ,

“गैंगस्टर और आरजेडी का नेता #शहाबुद्दीन 72 हूरों के पास पहुंच चुका है राष्ट्रवादी पत्रकार #सरदाना की मृत्यु पर ठहाके लगाने वालों को “इनाम की पहली खेप”…… अब ठहाके लगाकर कहो ……कबूल है कबूल है कबूल है।



आपको बता दें कि बाहुबली की मौत पर दुख जताने वाले तेजस्वी यादव ही एक अकेले नेता नहीं है। बल्कि इस फहरिस्त में कई और भी नेताओं का नाम सामने आया है। आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी (Mritunjay Tiwari) ने भी कहा है क‍ि शहाबुद्दीन (Shahabuddin) अब हमारे बीच नहीं रहे। Covid-19 के संक्रमण के कारण उनकी मौत हो गई है। राजद पर‍िवार के ल‍िए यह बहुत ही दुखद खबर है। पूरा राजद (RJD) परिवार शहाबुद्दीन(Shahabuddin) की मौत से पूरी तरह से दुखी है। वह अपने क्षेत्र में काफी लोकप्रिय थे। उन्होंने आम जनता के ल‍िए और गरीब लोगों के ल‍िए बहुत ही काम क‍िया। वह अदालत के फैसले के बाद त‍िहाड़ जेल में बंद थे और साथ ही उन्‍होंने न्‍याय की गुहार लगाई थी क‍ि उन्‍हें न्‍याय म‍िलेगा पर वह अब इस दुन‍िया में नहीं रहे।

वही आपको बता दें कि हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा का प्रवक्ता दानिश रिजवान ( Danis Rijvaan) ने कहा है क‍ि बाहुबली नेता शहाबुद्दीन(Shahabuddin) की मौत से पूरे ब‍िहार को गमज‍दा कर गई है। Covid-19 ने बहुत से लोगों को अपनी जद में समा ल‍िया है। शहाबुद्दीन की मौत की जिम्‍मेदार पूरी तरह से सरकार है क्‍योंक‍ि अगर आज इलाज सही से हुआ होता तों आज उनका न‍िधन नहीं हुआ होता।

बता दें कि इससे पहले समाचार ऐजेंसी एएनआई (ANI) ने ट्वीट कर शाहबुद्दीन (Shahabuddin) की मौत की खबर दी थी। लेकिन कुछ समय के बाद एएनआई ने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया और साथ ही इस खबर के लिए माफी भी मांग ली। बिहार में शाहबुद्दीन का राज था। सरकार तक उसके आगे नतमस्तक रहती थी। जेल में रहने के बावजूद भी उसकी दहसत में कोई कमी नहीं आई थी। वही आज बिहार को उसके खौफ से आज़ादी मिल गई।

Leave a Comment