SBI के सभी ग्राहकों ध्यान दें! 1 जुलाई से SBI में होने जा रहा है ये बड़ा बदलाव

State Bank of India New Rule From 1 July : देश का सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) 1 जुलाई 2021 से कुछ नए नियम लागू करने जा रहा है। वही अब 1 July से एटीएम (ATM) और बैंक ब्रांच (BANK BRANCH) से पैसे निकालने के सर्विस चार्ज में बडा बदलाव किया गया है। यानी की एटीएम से कैश विड्राल (Cash Withdrawal From ATM Card) , बैंक ब्रांच (Bank Branch) में चेक बुक (Check book) के जरिए पैसे विड्राल (Money Withdrawal) और इसके अलावा अन्य नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन (Non Financial Transaction) पर लागू होंगे। यानी कि आपको अब इन सभी कार्यों के लिए पहले से अधिक पैसा देना होगा।

भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के मुताबिक सिर्फ बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) पर ही यह बदलाव लागू होने जा रहा है। एसबीआई (SBI) बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) खाते को जीरो बैलेंस (Zero Balance) बचत खाते के रूप में जाना जाता है। आपको बता दें कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के कुल 44 करोड़ खाताधारकों पूरे देशभर में मौजूद हैं।

वही अब चेक बुक (Check Book) के लिए भी पहले से अधिक पैसा देना होगा। वही आपको बता दें कि अब नए नियम के तहत 10 चेक पेज वाली चेक बुक कॉपी के लिए आपको 40 रुपए प्लस जीएसटी का भुगतान करना होगा। जबकि 25 पन्ने वाले चेकबुक के लिए अब आपको 75 रुपए और इसके साथ ही इमरजेंसी चेकबुक के लिए 50 रुपए प्लस जीएसटी का भी आपको भुगतान करना होगा।

तो वही अब चेक बुक (check Book) से कैश निकासी (Cash withdrawal) की सीमा 1 लाख रुपए प्रति होने जा रही है। वहीं थर्ड पार्टी (जिसको की चेक जारी किया है) कैश निकालने की सीमा 50 हजार रुपए होने जा रही है।

हालाकि 4 फ्री ट्रांजैक्शन (4 Free Transaction) की सीमा पार कर लेने के बाद ग्राहकों को अब 15 रुपए के साथ-साथ जीएसटी चार्ज भी देना होगा। यानी की एटीएम से कैश विड्राल (Cash Withdrawal From ATM) की फ्री लिमिट के खत्म होने पर ग्राहकों को अब और पहले से और भी ज्यादा जेब ढीली करनी होगी।

Leave a Comment