New Delhi :दिल्ली पुलिस Delhi Police की एक स्पेशल सेल Special Cell ने खुफिया इनपुट मिलने के बाद देश की सुरक्षा से जुड़ी जानकारी चीन Chin और पाकिस्तान Pakistan को पहुंचाने वाले शख्स को गिरफ्तार किया है। बता दें कि गिरफ्तार आरोपी शख्स की 35 वर्ष के हरपाल सिंह Harpaal Singh मूलरूप से पंजाब Punjab के तरणतारण का रहने वाला है। हरपाल सिंह पाकिस्तानी और साथ ही चीनी खुफिया एजेंसियों को सेना के बेस कैम्प, उनके मूवमेंट, आर्मी और साथ ही बीएसएफ पोस्ट व बंकरों समेत कई अन्य खुफिया जानकारी भी उनसे मोटी रकम लेकर उन्हें मुहैया करता था।

पुलिस के अधिकारी ने इस पूरे घटना की जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी हरपाल सिंह को पाकिस्तान और चीन से हवाला के जरिए देश की खुफिया जानकारी देने के बदले काफी मोटी रकम दी जाती थी। पुलिस ने आरोपी के पास से सेना की जानकारी से जुड़े कुछ गोपनीय दस्तावेज, एक मोबाइल फोन, सिमकार्ड और साथ ही बस की यात्रा के 2 टिकट भी बरामद किए हैं। आरोपी हरपाल सिंह के मोबाइल को खंगालने पर ये पता चला कि पाकिस्तान के लाहौर में मौजूद उसका आका है, जिसका नाम जसपाल है। आरोपी जसपाल सिंह से वो सोशल मीडिया के जरिए सम्पर्क करता था। वही इस पूरे जांच में ये भी पता चला है कि जसपाल ने हरपाल सिंह से सोशल मीडिया के जरिए शुरु में सम्पर्क किया था और फिर उसे कई तरह से ब्रेन वॉश कर उस से खुफिया जानकारी देने के बदले मोटी रकम देने का लालच देकर अपने पाले में कर लिया।


भारतीय सेना की मूवमेंट की जानकारी कई बार दी

आपको बता दें कि पुलिस अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों को स्पेशल सेल को एक गुप्त सूचना मिली रही थी, जिसमें ये पता चला कि कुछ शातिर देश की खुफिया जानकारी पड़ोसी देश की खुफिया एजेंसियों को दे रहे हैं। वही जानकारी जुटाने पर ये पता चला कि उक्त हरपाल सिंह है, जो कि हवाला के जरिए मोटी रकम लेकर अपने देश की आर्मी और साथ ही अन्य खुफिया जानकारी पाकिस्तान तक पहुंचा रहा है। आरोपी भारत-पाक बॉर्डर के पास ही एक फर्म में मशीन ऑपरेटर का काम करता था और साथ ही उसके संबंध पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों से भी है।

टेक्नीकल जानकारी जुटाने पर पता ये चला कि आरोपी हरपाल सिंह हवाला के जरिए पाकिस्तान से मोटी रकम ले रहा है। जानकारी जुटाने के बाद पुलिस की टीम ने तुरंत छानबीन शुरू की। स्पेशल सेल की टीम ने पुणे की मिलिट्री इंटेलिजेंस के साथ जांच आगे बढ़ाई तो फिर यह पता चला कि आरोपी सेना और बीएसएफ के मूवमेंट, बंकर, बेस की काफी जानकारी पाकिस्तान तक पहुंचा रहा है। जिसके बाद पुलिस की टीम ने आरोपी हरपाल सिंह को ट्रेस किया और फिर उसे दिल्ली में ट्रैप लगाकर दबोच लिया।

वीडियो भी बनाकर जानकारी भेजता था पाकिस्तान

आपको बता दें कि पुलिस सूत्रों ने ये भी बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी के बाद आगे की जांच में यह पता चला कि वह कई बार आर्मी और बीएसएफ के बंकरों, बेस और अन्य जगहों की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्तान भेजता था। पूछताछ के दौरान आरोपी हरपाल सिंह ने ये भी बताया‌ कि पिछले करीब छह-साल माह से वह सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्तान खुफिया एजेंसी के एजेंट जसपाल से मिला।

आरोपी ने बताया कि उसने कौम का वास्ता देकर उसे जासूसी करने के लिए राजी कर लिया । चूंकि हरपाल भारत-पा‌क के बॉर्डर पर ही पैदा हुआ था। तो इसलिए उसे सेना और साथ ही उससे जुड़ी कई सारी अहम जानकारियां होती थी। जिसे की वह लगातार पाकिस्तान में अपने आका को सोशल मीडिया के द्वारा भेजता रहता था। बदले में आरोपी हरपाल सिंह को हवाला के जरिए मोटी रकम मिलती थी। आरोपी ने बताया कि ओमान की यात्रा के दौरान उसकी मुलाकात जसपाल से हुई थी। बता दें कि फिलहाल अभी पुलिस आरोपी को रिमांड पर लेकर उस से पूछताछ कर रही है।