उत्तराखंड से रातों रात मदरसों में पढ़ने वाले लगभग 2 लाख मु स्लिम बच्चे हो गए गायब, सच्चाई पता चलते ही सरकार भी पूरी तरह हैरान…

आपको बता दें कि अभी हाल ही में पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी(Hamid Ansari) ने कहा था कि देश में अल्पसंख्यक समुदाय में बेचैनी का अहसास और साथ ही असुरक्षा की सोच पनप रही है। देवभूमि उत्तराखंड से अब जो ख़बर सामने आ रही है। उससे यह पूरी तरह से साबित होता है कि आखिर क्यों हामिद अंसारी सहित अन्य लोगो के मन में यह भावना पैदा हो रही है। वही खबर यह है कि, उत्तराखंड से रातों रात 2 लाख मुस्लिम बच्चे गायब हो गए और फ़िर किसी को पता भी नहीं चला। आइए आपको समझाते हैं पूरा मामला-

आधार कार्ड और स्कॉलरशिप के वजह से रातों रात गायब हुए 2 लाख बच्चे

आपको बता दें कि देवभूमि उत्तराखंड से यह खबर सामने आ रही है कि राज्य में मदरसों में पढ़ने वाले करीब 2 लाख मुस्लिम बच्चे एका एक रातों-रात गायब हो गए हैं। और सबसे अजीब बात यह कि इस बात की किसी को खबर तक नहीं। इस पूरे वाक्या के बारे में जानकर आपके बेहद हैरानी होगी और आपके पैरों तले से जमीन खिसक जायेगी।

आपको बता दें मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों को पिछले कई सालो से हर महीने सरकार की ओर से स्कॉलरशिप दी जा रही थी। लेकिन मदरसों में पड़ने वाले बच्चों की संख्या मापने के लिए जैसे ही उत्तराखंड सरकार ने इन बच्चों के बैंक खातों को आधार नंबर से लिंक करने के लिए कहा गया तो फिर एक साथ करीब 1 लाख 95 हजार 360 बच्चे अचानक से गायब हो गए। गायब हुए इन छात्रों के नाम पर अभी तक सरकार हर साल करीब साढ़े 14 करोड़ रुपये स्कॉलरशिप जारी कर रही थी। यह स्कॉलरशिप अब घट कर केवल 2 करोड़ बच गई है।

इस वजह से असुरक्षित हैं मु सलमान?

वही आपको जानकर बेहद हैरानी होगी कि मदरसों में गायब हुए ये बच्चे कभी थे ही नहीं। यह सिर्फ और सिर्फ कागजों पर ही मौजूद थे। वही दूसरी तरफ बच्चो के झूठे नाम पर मदरसों द्वारा सरकार से पैसे लिए जा रहे थे। इससे पहले कांग्रेस की सरकार थी, तो जाहिर है कि लूट का माल हर किसी में बराबर बटता होगा। इसलिए यह खबर अबतक किसी के सामने नहीं आ सकीं ।

लेकिन जब उत्तराखंड में अब भाजपा की की सरकार बनी है। कांग्रेस सरकार को इस घोटाले की भनक तक नहीं लगी और साथ ही बीजेपी ने आते ही यह पूरी जानकारी पता भी लगा लिया। यह पूरा प्रकरण बेहद ही चौकाने वाला है। ये तो सिर्फ अकेले उत्तराखंड का आंकड़ा है। वही अब आप खुद ही यह जरूर अच्छे से समझ सकते हैं कि जब सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में मदरसों को अपना रजिस्ट्रेशन करवाने को कहा तो क्यों वहां पर तरह-तरह के समस्या पैदा हो गई। उत्तर प्रदेश के साथ पूरे देश में मदरसों में पढ़ रहे बच्चों को आधार से जोड़ा जाना चाहिए। ताकि सच सबके सामने आना चाहिए।

Leave a Comment