उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के गौर थाने में गुरुवार को प्रमुख उम्मीदवारों के नामांकन के दौरान काफी जमकर बवाल हुआ. इस दौरान लापर वाही में लिप्त पाए गए एसएचओ को एसपी ने लाइन पर हाजिर होने का भी आदेश दिया. जिसके बाद थाने में काफी धूमधाम से एसएचओ की विदाई का आयोजन किया गया. जिसमें पुलिसकर्मियों ने भी काफी जमकर डांस किया. सभी पुलिस कर्मियों ने एसएचओ को अपने कंधे पर बिठाकर पूरा घुमाया। वही जैसे ही ये वीडियो Viral हुआ वीडियो वायरल होने पर एसपी ने नाचते हुए सभी पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया.

जानकारी के अनुसार गुरुवार को प्रखंड प्रमुख उम्मीदवारों के नामांकन के दौरान उत्तरप्रदेश के बस्ती में जमकर बावल हुआ. उस दिन बवाल की कई तस्वीरें भी सामने आई थीं. वही कई जगहों पर पुलिसकर्मियों के सामने भी जमकर मार पी-ट हुई। इस दौरान गौर प्रखंड के गेट को धक्का मारकर कुछ लोग अंदर घुस गए। इसके बाद पुलिस ने वहां लाठी चार्ज भी किया। बाद में डीएम और एसपी तुरंत मौके पर पहुंचे। गुरुवार की देर शाम एसपी आशीष श्रीवास्तव ने प्रभारी निरीक्षक शमशेर बहादुर सिंह को शांति व्यवस्था नहीं रखने पर लाइन में खड़ा कर दिया था. पुलिस की मौजूदगी में हंगामे के बाद मामला भी दर्ज किया गया।

बता दे कि जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने एसएचओ के लिए विदाई समारोह का आयोजन किया. इस समारोह में पुलिसकर्मियों ने बैंड बाजा की धुन पर काफी जमकर डांस किया. सोशल मीडिया पर यह वायरल वीडियो में पुलिस कांस्टेबल और साथ ही इंस्पेक्टर वर्दी में जुलूस निकालते, तालियां बजाते और साथ ही नाचते हुए नजर आ रहे हैं. वायरल वीडियो पर सवाल उठने पर जिले के एसपी ने मामले का संज्ञान लिया.

यह निलंबित हुए

आपको बता दें कि रात करीब आठ बजे एसपी आशीष श्रीवास्तव ने अभद्र व्यवहार करने पर पुलिस बल के खिलाफ कार्रवाई की. एसपी ने निरीक्षक शमशेर बहादुर सिंह, एसआई भीम सिंह, एसआई रिजवान अली, अजय सिंह, आरक्षक प्रमोद कुमार, आरक्षक मनोज यादव, आरक्षक ऋषिकेश सिंह, यशवंत यादव, भर्ती आरक्षक शुभम मिश्रा, ऋषभ कुमार, सौरभ सिंह, सतीश यादव, कीर्ति को नियुक्त किया है. सिंह, ज्योति सिंह और कंप्यूटर ऑपरेटर आशुतोष धर द्विवेदी को निलंबित कर दिया गया है।