Mumbai Antilia Case : एंटिलिया बम कांड (Antilia bomb scare case) मामले में सचिन वाजे Sachin Vaze की जांच की जा रही है। National Investigation Agency (NIA) एनआईए इस पूरे मामले की जांच कर रही है, साथ ही महाराष्ट (Maharashtra) के ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरन (Mansukh हिरण) की भी मौत हो गई है, जिनकी कार मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर जिलेटिन की छड़ें के साथ खड़ी मिली थी।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए National Investigation Agency (NIA) ने रविवार को एंटीलिया बम कांड( Antilia bomb case) के मामले में मुंबई के पुलिस अधिकारी रियाज काजी (Riyaz Kazi) को गिरफ्तार कर लिया है । एजेंसी ने कहा है कि रियाज काजी (Riyaz Kazi) ने सचिन वाजे (Sachin Vaze) की मदद की, जिन्हें की पहले ही National Investigation Agency (NIA) ने उसी मामले में गिरफ्तार किया है।

सचिन वाजे (Sachin Vaze) की तरह ही रियाज काज़ी (Riyaz Kazi) भी एक असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर है। सचिन वाज़े (Sachin Vaze) की जांच महाराष्ट्र (Maharastra) ठाणे के व्यवसायी मनसुख हिरन( Mansukh हिरण) की मौत के सिलसिले में भी की जा रही है, बता दे कि 5 मार्च को उनकी लाश एक नाले में मिली थी ।

वही 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के आवास एंटीलिया (Antilia) के बाहर विस्फोटक लगाने के लिए मनसुख हिरण (Mansukh हिरण) की स्कॉर्पियो का कथित तौर पर इस्तेमाल किया गया था। उसे 13 मार्च को National Investigation Agency (NIA) ने गिरफ्तार किया था।

बता दे कि सचिन वाजे (Sachin Vaze) ने एंटीलिया (Antilia) के सामने कथित तौर पर मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के लिए अपनी योग्यता साबित करने के लिए विस्फोटक लगाए। बता दें कि साल 2004 से लेकर 2007 तक सचिन वाजे (Sachin Vaze) को तीन साल के लिए निलंबित कर दिया गया था। उन्होंने 2007 में पुलिस छोड़ दी थी। उन्हें 2020 में फिर से बहाल किया गया था।