मोदी के मंत्री एस जयशंकर बोले हमारी अर्थव्यवस्था तबाह हो गई, लेकिन मोदी मानने को तैयार नहीं ?

हिंदी में एक कहावत है रस्सी जल जाए पर उसकी ऐठ ना जाए ऐसा ही कुछ नरेंद्र मोदी का हाल है विदेश मंत्री मान चुके हैं कि हमारी वैश्विक अर्थव्यवस्था तबाह हो गई है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी और उनके कुछ नेता यह मानने के लिए तैयार ही नहीं है।

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 18,552 नए मामले सामने के बाद शनिवार को संक्रमित लोगों की कुल संख्या पांच लाख से अधिक हो गई तथा 384 और लोगों की मौत हो जाने के बाद मृतक संख्या बढ़कर 15,685 हो गई है। वहीं बहुपक्षवाद के लिए गठबंधन की आभासी मंत्रिस्तरीय बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने हमारी वैश्वीकृत आर्थिक व्यवस्था को तबाह करके रख दिया है।

उन्होंने आगे कहा कि हमें अलग तरह की राजनीति करनी होगी और तथ्यों का विश्लेषण करना होगा कि क्या वर्तमान में कोविड-19 महामारी के कारणों का पता लगाने के लिए जो हम प्रयास कर रहे हैं वह सही है या नहीं। उन्होंने कहा कि भविष्य में हमारे स्वास्थ्य व्यवस्था में बदलाव करने पर भी जोर दिया।

जयशंकर ने रवांडा और एस्तोनिया के विदेश मंत्रियों के साथ बातचीत
इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रवांडा और एस्तोनिया के अपने समकक्षों के साथ बात की और द्विपक्षीय सहयोग और कोरोना वायरस की स्थिति पर चर्चा की। जयशंकर ने रवांडा के विदेश मंत्री विन्सेंट बिरुता से अपनी बातचीत के दौरान कोरोना वायरस की स्थिति, द्विपक्षीय सहयोग, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और राष्ट्रमंडल के बारे में चर्चा की।

जयशंकर ने ट्वीट किया, च्च्विदेश मंत्री विन्सेंट बिरुता के साथ अच्छी चर्चा हुई। कोरोना वायरस की स्थिति, द्विपक्षीय सहयोग, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और राष्ट्रमंडल के बारे में चर्चा की। हमारी साझेदारी लगातार मजबूत हो रही है। एस्तोनिया के विदेश मंत्री उरमास रीनसालू के साथ बातचीत के दौरान जयशंकर ने कहा कि उन्होंने कोविड-19 पर उनकी डिजिटल पहल की प्रशंसा की।

जयशंकर ने एक ट्वीट में कहा, एस्तोनिया के विदेशमंत्री उरमास रीनसालू के साथ बातचीत हुई। कोविड-19 को लेकर उनकी डिजिटल पहल की प्रशंसा की। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में साथ मिलकर काम करने को लेकर उत्सुक हैं।

Leave a Comment