मोदीजी, 5 ट्रिलियन डॉलर की Economy बनाने के लिए +9% की GDP चाहिए, -23.9% की नहीं : गौरव वल्लभ

वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही को लेकर जीडीपी के आंकड़े सामने आ गए हैं। जून तिमाही में देश की जीडीपी में -23.9 हो गई जो यह किसी तिमाही में 40 वर्षों की सबसे अधिक गिरावट हैं.

ये भी पढ़े.

इसी पर कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने वाले बयान को याद दिलाते हुए तंज कसा और लिखा – मोदीजी, 5 ट्रिलियन डॉलर की Economy बनाने के लिए +9% की GDP चाहिए, -23.9% की नहीं.

उन्होंने कहा 1996 जब से तिमाही में GDP ग्रोथ रेट बताने का आरंभ हुआ तब से यह जीडीपी ग्रोथ में सबसे बड़ी गिरावट है और ये किसी एक्ट ऑफ गॉड के कारण नही हुआ क्योंकि पिछले तीन सालों में GDP ग्रोथ रेट 3.1% तक गिर चुकी थी.

MSME सेक्टर को लोन की जरूरत नही पैसे की जरूरत है. और जिनका रोजगार गया है उनको कैश देने की जरूरत है उन्हें फिर से रोजगार देने की जरूरत है.

जीडीपी आंकड़ों से पता चलता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में पिछले चार सालों से सुस्ती चल रही है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2016-17 में भारत की जीडीपी में 8.3 फीसद की ग्रोथ दर्ज की गई थी। इसके बाद वित्त वर्ष 2017-18 में जीडीपी ग्रोथ में गिरावट आई और यह 7 फीसद दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2018-19 में देश की जीडीपी में और गिरावट आई और यह 6.1 फीसद रही। इसके बाद वित्त वर्ष 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ और घटकर 3.1 फीसद पर आ गई। और अब पहले तिमाही के जारी आकड़ो के बाद पिछले 40 सालों की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई.

3 thoughts on “मोदीजी, 5 ट्रिलियन डॉलर की Economy बनाने के लिए +9% की GDP चाहिए, -23.9% की नहीं : गौरव वल्लभ”

Leave a Comment