मोदी सरकार ने 50 भगोड़े के 68,607 करोड़ का कर्ज किया माफ, इनमें मोदी के मेहुल भाई भी हैं शामिल

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने एक आरटीआई के जवाब में बताया है उसने टॉप के 50 विलफुल डिफॉल्टर्स के 68607 करोड़ की राशि बट्टा खाते में डाल दी है इनमें मोदी जी के मेहुल भाई का भी नाम है| मेहुल चौकसी वही कारोबारी हैं जो बैंक लूटने और प्रधानमंत्री से नजदीकी की वजह से मशहूर हुए थे| मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स लिमिटेड पर 5492 करोड़ रुपए की देनदारी है 50 डिफॉल्टर में सबसे ज्यादा रकम मेहुल चौकसी की ही है|

मेहुल चौकसी अब एंटीगुआ के नागरिक है| रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बताया कि 68607 करोड़ रूपए की बकाया राशि को तकनीकी रूप से और विवेकपूर्ण तरीके से 30 सितंबर 2019 तक माफ कर दिया गया है| वित्त मंत्री ने संसद में राहुल गांधी द्वारा पिछले बजट सत्र में संसद में 16 फरवरी 2020 को पूछे गए प्रश्न का जवाब देने से इनकार कर दिया था| इसके बाद आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले ने आवेदन देकर सूचना मांगी 24 अप्रैल को जवाब उपलब्ध कराया गया जिसमें कई चौंकाने वाले खुलासे शामिल है रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा कि इस पूरी राशि को 30 सितंबर 2019 तक माफ कर दिया गया है|

जब आरबीआई ने आरटीआई का जवाब उपलब्ध कराया तो बवाल मच गया| इस पर राहुल गांधी द्वारा संसद सत्र में पूछे गए सवाल पर उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट किया

“संसद में मैंने एक सीधा सा प्रश्न पूछा था- मुझे देश के 50 सबसे बड़े बैंक चोरों के नाम बताइए।
वित्तमंत्री ने जवाब देने से मना कर दिया।
अब RBI ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी सहित भाजपा के ‘मित्रों’ के नाम बैंक चोरों की लिस्ट में डाले हैं।
इसीलिए संसद में इस सच को छुपाया गया।”

Wilful Defaulters Name list

भारत तेजी से विकसित होते देशों में से एक है अनाज भंडार, मुद्रा भंडार सरकारी खजाना सब भरा था अचानक खजाना क्यों खाली हुआ क्योंकि पीएमसी, एसबीआई से लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया तक जमकर लूट हुई और संगठित लूट हुई| उद्योगों का पैकेज देना एक मसला है वह सरकार का विवेकपूर्ण निर्णय होता लेकिन लूटकर भागने वालों को अभयदान दिया जा रहा है बैंक लूट लेने वालों की लूट की रकम मास की जा रही है इसे आप क्या कहेंगे मास्टर स्ट्रोक?


(आपको बता दें कि यह लेख पत्रकार कृष्ण कांत के फेसबुक वॉल से लिया गया है Except- Rahul Gandhi tweet)

Leave a Comment