बहुत से लोग ये जानना चाहते हैं कि भारत मे कोरोना वायरस आया कहा से?

बहुत से लोग ये जानना चाहते हैं कि भारत मे कोरोना वायरस आया कहा से? अगर आप भी उनमें से एक है तो जरा दिल थाम के बैठिए ओर बहुत ध्यान से यह पोस्ट पढ़िए…… क्योंकि इस पोस्ट में वो रिसर्च है जो बताती है कि दरअसल भारत मे जिन पर इसे फैलाना का इल्जाम लग रहा है वो गलत है…..ओर संभवतः भारत मे कोरोना, मार्च से पहले फरवरी में ही फैलना शुरू हो गया था……..

शुरू से शुरू करते हैं ताकि शक ओ शुबहा की कोई गुंजाइश ही न रहे भारत मे पहला कोरोना केस 30 जनवरी को केरल में रिपोर्ट किया गया सबसे पहले जिस स्टूडेंट में कोरोना की पुष्टि हुई वह 24 जनवरी को केरल लौटा था। उसके बाद 30 जनवरी और 2 फरवरी को वुहान से लौटे केरल के दो छात्रों को संक्रमित पाया गया था।

अब सबसे खास बात समझिए ये तीनो छात्र MBBS के स्टूडेंट्स थे दरअसल चाइना का वुहान राज्य में बड़ी संख्या में भारतीय छात्र MBBS की पढ़ाई करने जाते है दरअसल चाइना जाकर पढ़ाई करना भारत की तुलना में सस्ता पड़ता है अगर यहाँ MBBS की पढ़ाई के 1 करोड़ लगते हैं तो चीन में 60 लाख में ही काम हो जाता है चीन में लगभग कुल 23 हजार भारतीय छात्र पढ़ते है इसमे में से 21 हजार ने केवल एमबीबीएस में ही दाखिला लिया हुआ है। यह संख्या ब्रिटेन और अमेरिका में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स से कही अधिक है।……

चीन में नववर्ष मनाने की परंपरा है उनके यहाँ स्कूल यूनिवर्सिटी में नववर्ष पर सालाना अवकाश दिया जाता है जो एक महीने का रहता है. साल 2020 में यह अवकाश लगभग 15 जनवरी से 15 फरवरी तक था MBBS का कोर्स वुहान में स्थित 2 यूनिवर्सिटी में चलता है… बड़ी संख्या में भारतीय छात्र जो वहा पढ़ते थे इस दौरान भारत मे आए, यह वही समय था जब वुहान में कोरोना का प्रसार आरम्भ हुआ था वुहान सिटी में 18 जनवरी 2020 से को एक साथ 4,000 मामलों में कोरोना के लक्षणों की शुरुआत हो गई थी 20 जनवरी को, चीन ने लगभग 140 नए रोगियों की पहचान की थी, 23 जनवरी को वुहान में लॉक डाउन किया गया लेकिन उससे पहले ही भारतीय छात्रों का वहाँ से भारत लौटने की शुरुआत हो गयी थी

उस वक्त हम नही जानते थे लेकिन अब हम जानते है कि इस वायरस के लक्षण शरीर मे 7 से 8 दिनों के बाद ही प्रकट होते हैं…… भारत मे आ चुके इन स्टूडेंट्स में भी ये लक्षण प्रकट होना शुरु हुए…… देश के अलग अलग राज्यों मे पुहंचे इन मेडिकल स्टूडेंट्स में भी ये लक्षण प्रकट हुए थे

Leave a Comment