अब सीआईडी करेगी अर्णब गोस्वामी की जांच, महाराष्ट्र सरकार ने दिया निर्देश

पूरे देश से जवाब मांगने वाले रिपब्लिक टीवी के कर्णधार अर्णब गोस्वामी से अब महाराष्ट्र सीआईडी सवाल करेगी. दो लोगों की आत्महत्या के मामले में अर्णब गोस्वामी की भूमिका की जांच महाराष्ट्र सीआईडी को सौंप दी गयी है. इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार ने आदेश जारी किया है.

महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को अर्नब गोस्वामी और दो अन्य के खिलाफ 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले की जांच सीआईडी के हवाले करने का निर्देश दिया. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर ये जानकारी दी.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा, अदनया नाइक ने शिकायत की है कि रायगढ़ जिले में अलीबाग पुलिस ने अर्णब गोस्वामी के रिपब्लिक द्वारा बकाया राशि नही दिये जाने के मामले की जांच नहीं की थी इसलिए उनके पिता और दादी को मई 2018 में आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा था. गृह मंत्री ने बताया कि मैंने सीआईडी को इस मामले की दोबारा जांच करने का आदेश दिया है.

बता दें कि इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की विधवा अक्षता नाइक ने 2018 में अपने पति की हुई मौत के लिए न्याय की मांग करते हुए पिछले दिनों एक वीडियो रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर अपलोड किया था. इस वीडियो में उन्होंने आरोप लगाया था कि अर्णब गोस्वामी द्वारा बकाया पैसे का भुगतान नहीं किये जाने के चलते उनके पति और सास ने आत्महत्या कर ली थी.

अन्वय नाइक और उनकी मां ने महाराष्ट्र के अलीबाग स्थित अपने फॉर्म हाउस में मई 2018 में आत्महत्या कर ली थी. अन्वय की पत्नी अक्षता की शिकायत पर अलीबाग पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में अर्णब गोस्वामी, IcastX / Skimedia के फिरोज शेख और स्मार्टवर्क्स के नितिश सारडा के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था. शिकायत के अनुसार, मृतक ने सुसाइड नोट में इन तीन लोगों का नाम लिया था. मृतक की पत्नी की शिकायत के अनुसार, तीनों ने उसके बकाया बिलों का पेमेंट नहीं किया था, जिसके चलते उसे कारोबार में भारी नुक्सान उठाना पड़ा था.

Leave a Comment