लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में एक महिला ने मंगलवार को विधानसभा के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की. उसे 60-70 फीसदी जली हालत में सिविल अस्पताल में भर्ती किया गया है. पुलिस का कहना है कि लड़की महराजगंज ज़िले की है. उसकी पहली शादी नाकाम रही और तलाक़ हो गया।

महिला का कहना है कि उसने उसके बाद आशिक़ अली नाम के लड़के से शादी की. लड़का रोज़गार के सिलसिले में सऊदी अरब चला गया है. महिला की शिकायत है कि सुसराल वाले उसे अपने घर में नहीं रहने देते।

मिली जानकारी के अनुसार 11:30 बजे के करीब एक महिला अचानक से विधानसभा के सामने गेट नंबर 2 पर जलन पदार्थ डालकर खुद को आग लगा ली है। सामने खड़ी पुलिस देखती रह गई और महिला आग की लपटों में जलने लगी।

महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया

आसपास के लोगों ने कपड़े की मदद से महिला को आग बुझाई। मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों का कहना है कि महिला 50% से ज्यादा जली हुई है जिसका इलाज किया जा रहा है।

क्या है पूरा मामला –

घटना हजरतगंज कोतवाली की है. जानकारी के मुताबिक पीड़ित महिला अंजना तिवारी यूपी के महाराजगंज के रहने वाली है. जिसकी शादी अखिलेश तिवारी (35) से हुई थी. बताया जा रहा है कि शादी के कुछ दिनों बाद दोनों के बीच डाइवोर्स हो गया था. वहीं महिला ने धर्म परिवर्तन करके आसिफ नाम के युवक से शादी रचाई थी. शादी के बाद आसिफ रजा सऊदी चला गया था. महिला के मुताबिक आसिफ के परिजन उसे लगातार प्रताड़ित कर रहे थे।

उसका कहना है कि महराजगंज थाने में उसने पुलिस से शिकायत की थी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. इंसाफ के लिए वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहती थी, लेकिन मुलाकात न होने से निराश होकर महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया है. जहां महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है. सिविल अस्पताल पर डीसीपी, एडीसीपी इंस्पेक्टर हजरतगंज समेत तमाम पुलिस के अधिकारी मौजूद है।