सेक्स स्कैंडल में फंस गए हैं लोजपा के सांसद प्रिंस राज, चिराग पासवान ने…

LJP SHANSAD Prince RAJ SEX SCANDLE : बिहार के समस्तीपुर से लोजपा सांसद प्रिंस राज सेक्स स्कैंडल में फंसे हैं. उनके चचेरे भाई और साथ ही लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के पुराने पत्र से ये सनसनीखेज खुलासा हुआ है. लोजपा संसाधन प्रिंस राज अपने ही पार्टी की एक महिला नेत्री के साथ इस मामले में फंसे थे.

चिराग के पत्र से हुआ यह बड़ा खुलासा

बता दे कि लोजपा सांसद प्रिंस राज के सेक्स स्कैंडल में फंसने का खुलासा लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के पुराने पत्र से हुआ है. चिराग पासवान ने ये पत्र अपने चाचा पशुपति पारस को लिखा था. होली के दिन यानि कि 29 मार्च 2021 को लिखे गये इस पत्र में लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने पशुपति पारस को ये बता रहे थे कि कैसे पारस परिवार से लेकर पार्टी के काम में सहयोग नहीं कर रहे हैं. वही 6 पन्ने के इस पत्र से प्रिंस राज के सेक्स स्कैंडल में फंसने की चर्चा है.

अपनी ही पार्टी की नेत्री ने लगाया था प्रिंस राज पर लगाया यह गंभीर आरोप

आपको बता दें कि चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति कुमार पारस को भेजे गये इस पत्र में लिखा है “कुछ दिन पहले स्वाति नाम की महिला जो पहले अपनी पार्टी से जुड़ी हुई थी वह प्रिंस पर यौन शोषण का आऱोप लगाकर ब्लैकमेल कर रही थी. परिवार के बड़े होने के नाते मैंने आपसे इस विषय पर परामर्श किया लेकिन आपने इस गंभीर मामले को अनदेखा कर दिया. आपके अनदेखा करने के बाद मैने प्रिंस को पुलिस के पास जाने की सलाह दी ताकि सच औऱ झूठ सामने आये और जो कोई भी दोषी हो वह दंडित हो.”

लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के इस पत्र से साफ होता है कि समस्तीपुर के लोजपा सांसद प्रिंस राज सेक्स स्कैंडल में फंसे थे. बता दे कि लोजपा की ही नेत्री ने उन पर यौन शोषण का आऱोप लगाया था और साथ ही बकायदा ब्लैकमेल भी कर रही थी. इस घटना की जानकारी पूरे पासवान परिवार को थी.

गौरतलब है कि प्रिंस राज चिराग पासवान के चाचा स्व. रामचंद्र पासवान के बेटे हैं. वही रामचंद्र पासवान के निधन के बाद खाली हुई लोकसभा सीट से ही प्रिंस राज को सांसद बनाया गया था. चिराग पासवान ने ही उनके चुनाव अभियान की कमान खुद संभाली थी. वही फिर बाद में चिराग पासवान ने उन्हें बिहार प्रदेश लोजपा का अध्यक्ष भी बनाया था. लेकिन फिर जब पारस ने चिराग को अपदस्थ करने की कवायद शुरू की तो प्रिंस राज चाचा पशुपति पारस के साथ हो गये.

Leave a Comment