दिल्ली में इस समय जो भी कोरोनावायरस महामारी की स्थिति है तो ऐसे में अब आम आदमी पार्टी के विधायक ने अपनी ही पार्टी पर सवाल खड़े करने शुरू कर दिए हैं! बता दे कि मटिया महल से आम आदमी पार्टी के विधायक का कहना है कि कोरोना वायरस महामारी से दिल्ली में स्थिति और भी बदतर होती गई हैं! तो ऐसे में पार्टी विधायक का कहना है कि दिल्ली में कोई भी काम नहीं हो रहा है! दिल्ली में कोई भी किसी की सुनने वाला ही नहीं है! बता दे कि उन्होंने आगे कहा है कि दिल्ली में ना तो बैंड है और ना ही ऑक्सीजन हैं और ना ही सही से दवाइयां मिल रही है! यहां पर कोई भी काम सही से नहीं हो रहा है! ऐसे में दिल्ली के अंदर राष्ट्रपति शासन लगा देना बेहद महत्वपूर्ण है !

बता दे कि आम आदमी पार्टी के विधायक का कहना है कि दिल्ली में केवल कागजों पर ही सरकारें चल रही हैं! उन्होंने आगे यह भी कहा है कि मैं 6 बार से विधायक हूं! और मैं सबसे सीनियर विधायक हूँ, कोई सुनने वाला नहीं है और ना ही कोई नोडल अधिकारी नहीं! उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे में तुरंत प्रभाव से दिल्ली के अंदर राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए!

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी के विधायक की ओर से राष्ट्रपति शासन की मांग पर भारतीय जनता पार्टी और साथ ही कांग्रेस भी दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने के समर्थन में आ रहे हैं! ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के नेता का कहना है कि शोएब इकबाल बिल्कुल सही कह रहे हैं स्थितियां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के हाथ से बाहर निकलती जा रही है! इससे पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने भी दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की थी!