जंगलराज: योगी के ऑफिस के बाहर मां-बेटी ने खुद को लगाई आग, दबंगों से आजिज आकर उठाया कदम

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर एक मां-बेटी द्वारा खुद को आग लगाने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि अमेठी की रहने वाली मां-बेटी ने दबंगों के खिलाफ न्याय नहीं मिलने पर आत्मघाती कदम उठाया है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय लोक भवन के सामने आज शाम अमेठी से आई एक मां-बेटी ने खुद को आग लगाकर आत्मदाह की कोशिश की। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने किसी तरह कंबल डालकर आग पर काबू पाया और दोनों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। घटना में दोनों बुरी तरह से झुलस गई हैं। आग से झुलसी मां की हालत बहुत गंभीर बताई जा रही है।

बताया जा रहा है कि पीड़ित मां-बेटी अमेठी की रहने वाली हैं, जिनका गांव के कुछ दबंगों के साथ बीते कुछ समय से नाली का विवाद चल रहा है। लखनऊ के डीसीपी सेंट्रल दिनेश सिंह ने बताया कि मां-बेटी अमेठी के जामो थाना क्षेत्र की रहने वाली हैं और उनका नाम सोफिया और गुड़िया है। घटना में मां साफिया 80 से 90 फीसदी तक जल गई है, जबकि बेटी गुड़िया 10 से 20 फीसदी जली है। डीसीपी सेंट्रल ने बताया कि दोनों का इलाज चल रहा है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुड़िया का आरोप है कि गांव में कुछ दबंगों ने नाली विवाद में उसकी मां पर हमला कर दिया था। विरोध करने पर दबंगों ने उसकी भी पिटाई कर दी थी। घटना की शिकायत के लिए जब मां-बेटी जामो थाना पहुंचीं तो दबंग वहां भी आ गए और पुलिस के सामने ही उन्हें थाने से बाहर भगाने लगे। बाद में उच्चाधिकारियों के हस्तक्षेप पर आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज हो सका।

इसके बाद गुड़िया ने बताया कि दोनों जब घर वापस आ गईं, तो देर रात में हमलावर फिर उनके घर पहुंच गए और लाठी-डंडों से मां-बेटी की फिर से पिटाई कर दी। पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं होने से नाराज मां-बेटी आज ही राजधानी पहुंचीं और लोक भवन के सामने दोनों ने खुद को आग लगा लिया।

पुलिस ने बताया कि फिलहाल मामले की छानबीन जारी है और अमेठी जिले की पुलिस से संपर्क कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Comment