जज शाहब के एक गलती की कीमत चुकानी पड़ी उनके पूरे परिवार को …

आपको बता दें कि अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि आप किसी दूसरे को उपदेश दे देते है लेकिन उसका पालन आप खुद ही नहीं किया करते तो ऐसे समय में एक समय ऐसा आता है जब आपके सामने ही कई सारी मुश्किल खड़ी हो जाती है। और ऐसा ही कुछ उड़ीसा हाई कोर्ट के जज के साथ हुआ है! जिन्होंने कोरोनावायरस संक्रमण की पहली लहर के दौरान कोरोना वायरस के सभी नियमों का कड़ाई से पालन को लेकर कई आदेश दिए थे! लेकिन कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर में उनसे खुद ही इतनी बड़ी चूक हो गई!

बीते साल का अपना ही आदेश भूल गए जज साहब-

जज साहब का पूरा परिवार सिर्फ एक ही गलती की वजह से कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए जबकि पिछले साल उन्होंने ही कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रशासन को कई सारे आदेश जारी किए यह उस बैच में ही शामिल थे जिसके अंदर आदेश पास किया गया कि कोरोनावायरस में लॉकडाउन का पालन प्रशासन कैसे कराये, जिसके अंदर कोरोनावायरस की रफ्तार कम हो जाए ! एक आदेश में बैठ की ओर से यह भी कहा गया कि सरकार एक ऐसी योजना को लेकर आए जिससे कि लोगों को जरूरी सामान उनके घर के पास ही मिल सके और किसी भी ऐसी चीज के लिए टू व्हीलर तक निकलने की आवश्यकता ना पड़े!

लेकिन आपको बता दें कि 1 साल के बाद ही जज साहब उस बात को ही भूल गए कि उन्होंने पिछले साल सोशल डिस्टेंसिंग और साथ ही कोरोनावायरस के खतरे को लेकर क्या आदेश दिए थे? हाईकोर्ट की सूत्रों की माने तो जज साहब अपनी 90 साल की माताजी और साथ ही अपने परिवार के और भी दूसरे सदस्यों को लेकर तीर्थ यात्रा पर निकल पड़े। वह भी अप्रैल के महीने में जब कोरोनावायरस की रफ्तार देश में काफी तेज से बढ़ रही है!

घर लौटते समय हुआ ये हादसा –

बता दे कि सबसे पहले तो वह अपने परिवार के साथ प्रयागराज पहुंचे थे। जहां उन्होंने संगम में अपने पिताजी की अस्थियां प्रभावित की थी जिनके निधन पिछले ही साल हो गया था। वही वहां से फिर हरिद्वार के लिए निकल पड़े कुंभ के दौरान गंगा में डुबकी लगाने के लिए! कुंभ को लेकर बाद में कहा गया कि इसका आयोजन नहीं होना चाहिए था कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए! इसमें शामिल कई साधुओं को भी कोरोनावायरस हो गया है यहां से वह परिवार के साथ गया के लिए निकले और पूरी 15 अप्रैल को पहुंचे!

वही कटक से लौटते समय पूरा परिवार कोरोनावायरस से पॉजिटिव पाया गया सभी इस बीमारी से रिकवर कर रहे हैं लेकिन जज साहब की माताजी जिनकी उम्र बेहद ही अधिक है उनकी तबीयत ज्यादा खराब है!


Leave a Comment