देश में कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर काफी तेजी से चल रही है और ऐसे में हर कोई बस अब इसका खत्म होने का ही इंतजार कर रहा है क्योंकि पिछले साल जो कुछ भी हुआ था उसके बाद इस साल में एक बार फिर से लॉकडाउन अगर लगाया जाए तो फिर से वही आलम आ जाएगा हर कोई अपने घर में एक बार फिर से बैठ जाएगा! इसी के लिए एक मात्र केवल उपाय बचा है और वह है वैक्सीनेशन!

लेकिन आपको बता दें कि हाल ही में कुछ महीने पहले ही देश के कुछ राजनीतिक विद्वान यह भी कहते हुए नजर आ रहे थे कि हम कोवैक्सिन नहीं लगाएंगे मगर अब पूरी दुनिया के बड़े बड़े वैज्ञानिक भारत की कोवैक्सीन को सराह रहे हैं! लेकिन वही अब अमेरिका में महामारी विज्ञान के प्रमुख विशेषज्ञ और साथ ही वाइट हाउस के चीफ मेडिकल एडवाइजर डॉ एंथनी फाउची ने कहा है कि भारत में बनी कोरोना की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ वायरस के 617 वेरिएंट के खिलाफ कारगर है! एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डॉ फाउची ने कहा है कि इस बारे में हम प्रतिदिन के आधार पर और साथ ही अधिक डेटा ले रहे हैं!

डॉ फाउची का कहना है कि भारत में जिस तरीके के हालात दिख रहे है, उसके खिलाफ वैक्सीनेशन एक महत्वपूर्ण हथियार हो सकता है! उन्होंने आगे कहा है कि , “नए डेटा में, कोविड-19 के मामलों से ठीक हुए लोगों और साथ ही भारत में जिन्होंने कोवैक्सीन की डोज ली है उसको लेकर विश्लेषण किया गया! उन्होंने कहा, “यह पाया गया है कि कोवैक्सीन 617 वेरिएंट के खिलाफ कारगर है!”