देश को डिजिटल इंडिया बनाने की बात होती है, देश में 5G सेवा लाने की बात होती है, लेकिन सवाल यह उठता है कि देश में इंटरनेट की अच्छी स्पीड के बिना देश डिजिटल इंडिया कैसे बनेगा। स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स (Speedtest Global Index) की रिपोर्ट ने खुलासा किया है, कि भारत इंटरनेट स्पीड में काफी पीछे है।

ग्लोबल मोबाइल इंटरनेट स्पीड (Global Mobile Internet Speed) में भारत की रैंकिंग में गिरावट आई है। स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स (Speedtest Global Index) की सितंबर 2020 की 138 देशों की रैंकिंग में भारत को 131वां स्थान मिला है। वही स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स (Speedtest Global Index) में भारत दक्षिण कोरिया श्रीलंका नेपाल और पाकिस्तान जैसे देशों से भी पीछे हैं।

इस रैंकिंग के अनुसार भारत की असद डाउनलोडिंग स्पीड 12.07 Mbps रही। फिक्स ब्रांडेड इंटरनेट स्पीड में भारत की स्थिति थोड़ी ठीक है। इसमें 175 देशों की रैंकिंग में भारत को 70 वें स्थान पर रखा गया है। स्पीडटेस्ट ग्लोबल इंडेक्स (Speedtest Global Index) दुनिया भर में इंटरनेट की स्पीड का डाटा मासिक तौर पर जुटाता है।

दुनिया भर में लाखों लोग मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और उनके रियल डाटा के आधार पर स्पीडटेस्ट की ओर से रैंकिंग तैयार की जाती है। इस दौरान भारत की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 46.47Mbps रही। चीन को फिक्स्ड ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में 138.66Mbps के साथ दुनिया में 20वां स्थान मिला है।

जबकि श्रीलंका को 31.42Mbps के साथ 94वां स्थान और बांग्लादेश को 29.85Mbps के साथ 98वां स्थान हासिल हुआ। वही नेपाल 113वें और पाकिस्तान को 159वां स्थान मिला।