हनुमानजी का अवतार बताने वाले बाबा का अश्लील वीडियो वायरल धर्म की आड़ में आश्रम में मनाता था रंगरलिया

जिस शिद्दत से हमारे देश में धर्म और आस्था पर लोगों का यकीन है, उसी शिद्दत से धर्म और अध्यात्म की आड़ में फर्ज़ी बाबाओं की जमात लोगों की आस्थाओं के साथ खेल रही है।

ऐसे गुरुघंटालों की अपने देश में कोई कमी नहीं है, एक ढूंढिए हजार मिलेंगे और अब इसी फेहरिस्त में एक और नए बाबा शामिल हो गए हैं। जो आपकी भावनाओं से खिलवाड़ कर रहे हैं। मामला सोमवार को नरसिंहपुर जिले के नांदिया बिलहरा गांव का सामने आया है।

नरसिंहपुर जिले के नांदिया बिलहरा गांव में स्थित हनुमान मंदिर को नया स्वरूप देकर धर्मेंद्र दुबे उर्फ धर्मदेव महाराज और उसके छोटे भाई रामदेव महाराज उर्फ छोटे गुरुजी ने मंदिर की आड़ में अय्या’शी का आली’शान अड्डा बनाया हुआ है।

इस अड्डे को नाम दिया है साकेत धाम जहां धर्मेंद्र उर्फ धर्मदेव लड़कियों का यौन शोषण करता है। धर्म का चोला ओढ़े यह पाखंडी न सिर्फ लड़कियों का शारीरिक शोषण करता है। उक्त बाबा के ऊपर कई को अपनी हवस का शिकार बनाने के आरोप लागये जा रहे हैं, वही पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है ।

उक्त बाबा तंत्र विद्याओं से पहले युवतियों को फंसाता था और उसके बाद उनके साथ संबंध बनाता था। इतना ही नहीं, इस दौरान बाबा स्वयं ही अपने कुकृत्यों की वीडियो भी बनाता था। जिसके बाद युवतियों को वाडियो वायरल करने की धमकी दी जाती और उनके साथ लगातार दु’ष्कर्म किया जाता था। बाबा द्वारा कई अश्लील वीडियों वायरल करने की भी चर्चा जोरो पर है ।

पुलिस ने बीते 4 अगस्त को धर्मेंद्र दास के आश्रम पर छापा मारा था और इसके दौरान उसके आश्रम से 2 किलो से अधिक गांजा, कई पेन ड्राइव और वीडियो सीडी बरामद हुए थे। धर्मगुरु धर्मेंद्र दास दुबे पर यह भी आरोप है कि उसने एक ही गांव की तीन महिलाओं के साथ यौन शोषण किया था और कई महीने से उन्हें भी ब्लैकमेल कर रहा था। खबर यह भी है कि इस ढोंगी बाब के खिलाफ कई ग्रामीणों ने इससे पहले भी उसकी शैतानी गतिविधियों और गांव की कई महिलाओं साथ कथित यौन शोषण और ब्लैकमेलिंग की शिकायत पुलिस से की थी।

वहीं आश्रम से जब्त किए गए सबूतों में कई ऐसी वीडियो सीडी भी पाई गईं हैं, जिसके माध्यम से पीड़ितों को ब्लैकमेल किया जा रहा था। इन ग्रामीण परिवारों का यह भी कहना था कि वे बदनामी के डर से शिकायत नहीं करना चाहते थे। इसके बाद जब पुलिस के पास कोई विकल्प नहीं था और 4 अगस्त को एनडीपीएस एक्ट के तहत उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।

उसी दिन उसे अदालत में पेश किया और न्यायिक हिरासत में भी भेज दिया। अब वीडियो की सामग्री के जरिए पुलिस ने पीड़ित परिवारों से भी संपर्क किया है और उन्हें औपचारिक शिकायत दर्ज करने के लिए आश्वस्त किया और कहा कि उन मामलों पर भी आरोपी धर्मेंद्र दास पर करवाई की जाएगी ।

Leave a Comment