पश्चिम बंगाल में अब ममता सरकार का हटना तय, लगेगा राष्ट्रपति शासन.? सुप्रीम कोर्ट ने …

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल(West bengal) में चुनाव के बाद हुई कई सारी घटनाओ के मामले में याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से गुहार लगाई गई है कि केंद्र सरकार को ये निर्देश दिया जाए कि वह पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाए। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दाखिल अर्जी में ये कहा गया है कि पश्चिम बंगाल (West bengal) में चुनाव खत्म होने के बाद जो घटनाएं हुई है उसके लिए निर्देश जारी किया जाए और अनुच्छेद-356 का इस्तेमाल हो और साथ ही वहां राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

सुप्रीम कोर्ट में अर्जी हुई दाखिल

आपको बता दें कि उच्चतम न्यायालय में याचिकाकर्ता वकील घनश्याम उपाध्याय की ओर से ये दाखिल याचिका में कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों की हत्या के मामले की एसआईटी से भी जांच कराई जानी चाहिए। याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दाखिल अर्जी में कहा गया है कि अदालत पश्चिम बंगाल (West bengal)के गवर्नर को ये निर्देश जारी कर कहें कि वह पश्चिम बंगाल(West bengal) के कानून व्यवस्था की स्थिति पर रिपोर्ट तलब करें। वही घनश्याम ने कोर्ट में ये भी कहा है कि राज्य में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नहीं रह गई है और साथ ही राज्य में संवैधानिक मशीनरी बिल्कुल पूरी तरह से फेल हो चुकी है।

16 लोगों की अब तक जा चुकी है जान

बता दे कि उच्चतम न्यायालय में पेश याचिका में ये भी कहा गया है कि मीडिया और साथ ही न्यूजपेपर की जो रिपोर्ट्स हैं उससे ये बात पब्लिक में है कि पश्चिम बंगाल (West bengal) में अब तक 16 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है। याचिका में यह भी आरोप लगाया गया है कि ये हत्याएं टीएमसी के गुंडों के द्वारा की गई है। पश्चिम बंगाल (West bengal) के 2021 के विधानसभा चुनाव में जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी को वोट दिया है उनकी सुरक्षा को पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया गया है। राजनीतिक पार्टी का इस तरह से जो रवैया है वह पूरी तरह से ताना शाही वाला रवैया है। याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से यह भी गुहार लगाई गई है कि वह केंद्र सराकर को निर्देश जारी करे कि वह अपनी ड्यूटी पूरा करे और साथ ही अनुच्छेद-356 का इस्तेमाल किया जाए और राष्ट्रपति को पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की सलाह दें।

सीबीआई जांच की भी की गई है मांग

आपको बता दें कि मंगलवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पश्चिम बंगाल (West bengal) सरकार से जल्द से जल्द इसका जवाब दाखिल करने को भी कहा है। उस याचिका में पश्चिम बंगाल चुनाव मतगणना के बाद दो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की हत्या के भी मामले में सीबीआई (CBI) जांच की मांग की गई है। याचिका में कहा गया था कि बीजेपी कार्यकर्ता अभिजीत सरकार और साथ ही हरेन अधिकारी (BJP WORKER ABHIJEET SARKAR & HIRAN ADHIKARI) की कथित तौर चुनाव परिणामों के बाद ही लोगों की हत्या कर दी गई थी।

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल चुनाव (West bengal election )के बाद जैसे ही चुनाव परिणाम आये राज्य में बीजेपी ऑफिसों( bjp office) में ह मले शुरू हो गए। इसलिए याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में ये कहा है कि राज्य सरकार को कहा जाए कि उस मामले में जल्द से जल्द इसका जबाब दाखिल करें।

इस आर्टिकल को शेयर करे

Leave a Comment