कोरोना से हुए आर्थिक संकट के चलते फ्रांस के प्रधानमंत्री ने दिया इस्तीफा! क्या मोदी को भी दे देना चाहिए इस्तीफा ?

फ्रांस के प्रधानमंत्री एदुआर्द फिलिप (Edouard Philippe) ने इस्तीफा दिया है. इमैनुएल मैक्रों (Emmanuel Macron) की सरकार वो पिछले 3 साल से प्रधानमंत्री थे. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रांस में कोरोना वायरस (Coronavirus) से आए आर्थिक संकट के चलते उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. बता दें कि फ्रांस में प्रधानमंत्री के पांच साल के कार्यकाल के बीच में इस्तीफा देना कोई नई बात नहीं है. वहां ऐसा पहले भी होता रहा है.

अगले प्रधानमंत्री का इंतजार

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने एदुआर्द फिलिप का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. राष्ट्रपति की तरफ से कहा गया है कि अगले कुछ घंटे में नए प्रधानमंत्री का ऐलान कर दिया जाएगा. कहा जा रहा है कि ये फैसला पिछले दिनों म्युनिसिपल इलेक्शन में हार के बाद लिया गया है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मैक्रों अगले दो साल के अंदर फिर से अपनी छवि सुधारना चाहते हैं.

क्या भारत में यह संभव है

एक तरफ जहां फ्रांस के प्रधानमंत्री कोरोना महामारी से आए आर्थिक संकट को रोकने में फेल हुए तो उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया. भारत में कोरोना महामारी पूरी तरह से पैर पसार चुकी है और इसमें मोदी सरकार पूरी तरह से फेल रही. कोरोनावायरस रोकने में मोदी सरकार पूरी तरह से फैल रही है ना तो चीन संभल रहा है ना पाकिस्तान ना नेपाल अब तो बांग्लादेश ने भी आयात पर रोक लगा दिया है क्या नरेंद्र मोदी अपना इस्तीफा देंगे.

सरकारी फेरबदल की उम्मीद

एडौर्ड फिलिप के इस्तीफे के बाद सरकारी फेरबदल होने की उम्मीद है. जब तक एक नए मंत्रिमंडल का नाम नहीं सामने आता है, तब तक फिलिप सरकारी मामलों को संभालते रहेंगे. बीते कुछ दिनों से अटकलें थी कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों कैबिनेट में फेरबदल कर सकते हैं. यह फेरबदल राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों अपनी गिरती साख को बढ़ाने और मोहभंग मतदाताओं का दोबारा दिल जीतने के लिए करने वाले थे. पीएम एडौर्ड फिलिप की कोरोना संकट के दौरान काफी आलोचना की गई थी.

Leave a Comment