जब विदेशी टिकटॉक बंद हो सकता है तो ईवीएम क्यों नही ?

विदेशी टिकटॉक बंद हो सकता है तो ईवीएम क्यों नही ?

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारतीय सेनाओं के साथ हिंसक झड़प के बाद चीन को सैन्य मोर्चे पर करारा जवाब दिया गया। आर्थिक और अन्य मोर्चे पर भी उसके खिलाफ मोदी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। भारत सरकार ने 59 चाइनीज मोबाइल एप को प्रतिबंधित कर दिया है। इसमें टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयर इट और अन्य चाइनीज एप शामिल हैं।

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार से कहा था कि या तो चीन से जुड़े 52 मोबाइल एप्लिकेशन को ब्लॉक कर दिया जाए या लोगों को इनका इस्तेमाल ना करने की सलाह दी जाए, क्योंकि इनका इस्तेमाल करना सुरक्षित नहीं है। टिकटॉक समेत अन्य चाइनीज एप्प बैन होने पर लोगो की तरह तरह को टिप्पणियां आने लगी है, ट्राइबल आर्मी के संस्थापक और सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता हंसराज मीना ने पूछा अगर टिकटोक बैन हो सकता है तो विदेशी ईवीएम क्यों नही ।

उन्होंने अपने ट्वीटर पर लगातार कई ट्वीट लिखा – विदेशी टिक टॉक बंद हो सकता है तो ईवीएम क्यों नहीं? #BanEVM अगर ज़िंदा हो तो आवाज उठाईये, अगर आवाज नहीं उठा सकते तो आवाज उठाने वालों का साथ दिजिये।

#BanEVM बैन ईवीएम पर लोकतांत्रिक व्यवस्था व मूल्यों को बचाने वाले सभी विपक्षी लोगों का साथ व समर्थन चाहिए। वरना मैं चुनावों के परिणामों के बाद आपके साथ रोने में शामिल नहीं होयूँगा बल्कि आपका मजाक उड़ाऊंगा, ध्यान रखें। #BanEVM

Leave a Comment