वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को मे सेरा वीक भारत ऊर्जा मंच को संबोधित करते हुए कहा कि अब अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि चालू वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी की वृद्धि दर में गिरावट शून्य या उसके करीब रहेगी।

Read Also : गुजरात के डिप्टी सीएम पर चप्पल फेंकने वाले को पुलिस बता रही थी कांग्रेस कार्यकर्ता, निकला BJP कार्यकर्ता

उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण देशभर में 25 मार्च से संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया था। जिसके कारण 2020-21 की पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की जबरदस्त गिरावट आई। जिससे पूरे वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी की वृद्धि दर नकारात्मक या सुनने के करीब रहेगी।

निर्मला सीतारमण ने कहा कि अब आर्थिक गतिविधियों को खोले जाने से अर्थव्यवस्था में सुधार के संकेत दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि त्योहारों के सीजन से अर्थव्यवस्था को रफ्तार देखने को मिलेगी। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी और चौथी तिमाही में सकारात्मक विकास रहने की उम्मीद है।

Read Also : टिकट के पैसे न होने पर BSP कार्यकर्ता ने दी जान, सुसाइड नोट में लिखा- मायावती ने मांगे थे दो करोड़

उन्होंने कहा कि कुछ ऐसे संकेत मिल रहे हैं, जिससे यह पता चलता है कि प्राथमिक क्षेत्र और कृषि क्षेत्र से जुड़े सेक्टर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं कृषि क्षेत्र से जुड़े उपकरण की मांग बढ़ गई है और त्योहारों के सीजन भी चल रहे हैं। इससे यह उम्मीद है की मांग और बढ़ेगी और अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिलेगी।