मध्यप्रदेश: में नरसिंहपुर जिले में चीचली थानातर्गत एक गांव में अनुसूचित जाति की महिला ने शुक्रवार सुबह घर में फांसी लगा ली उसके पति का आरोप है कि पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था।

वह इसकी रिपोर्ट लिखवाने 3 दिन से पुलिस के चक्कर लगा रहे थे आरोपीतो कि गिरफ्तार करने की वजह उन्हें ही हवालात में डाल दिया गया था इधर महिला की मौत के बाद पीड़ित स्वजानो से मिलने जिला के आलाअधिकारी उसके गांव पहुंचे ।

चीचली थाने के एएसआई व गोटीटोरिया चौक प्रभारी एमएल कुरापे को निलंबित कर दिया गया है पुलिस ने 3 आरोपियों पर सामूहिक दुष्कर्म और दो पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया है ।

पांच आरोपीतो में से दो को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि तीन फरार हैं उधर देर शाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गोटी टोरिया पुलिस चौकी प्रभारी के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कर गिरफ्तारी और एसपी राजेश तिवारी और एसडीओपी सीताराम यादव को हटाने का निर्देश दिया ।

पीड़ित महिला के पति ने एसडीएओपी गाडरवारा सीताराम यादव को बताया कि उनकी पत्नी 28 सितंबर को गांव स्थित खेत में चारा काटने गई थी वहां तीन आरोपीतो परशु अरविंद व अनील ने उसके साथ दुष्कर्म किया पत्नी ने घर आकर इसकी जानकारी दी ।

इसके बाद हम लोग रात को ही गोटी टोरिया पुलिस चौकी पहुंचे तो पुलिस ने आवेदन लेकर सुबह मेडिकल जांच कराने की बात कही अगले दिन चौकी पहुंचे तो रिपोर्ट नहीं लिखी गई।

30 सितंबर को फिर चीचली थाने पहुंचे जहां शिकायत सुनने की बजाए पुलिसकर्मियों ने मुझे और मेरे बड़े भाई को हवालात में बंद कर दिया पत्नी के साथ गाली गलौज की छोड़ने के एवज में पुलिस ने रिश्वत ली ।

इससे व्यथित होकर पत्नी ने आत्महत्या कर ली अब सामूहिक दुष्कर्म आरोपितों अरविंद चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि परशु और अनील फरार है आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में अरविंद के पिता मोतीलाल चौधरी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि ललिता बाई चौधरी फरार है।