केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर के किसान जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं। तो वहीं कई जगहों पर किसान कृषि कानून को वापस लेने की मांग को लेकर सड़कों पर भी उतर आए हैं। हालांकि पुलिस ने किसानों को सड़कों से हटाने के लिए आंसू गैस तथा वाटर कैनन तक का प्रयोग किया। लेकिन किसान अपनी मांग को लेकर जस के तस है।

वहीं उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री अनिल शर्मा के बयान से विवाद और भी बढ़ गया है, दरअसल अनिल शर्मा ने विवादित बयान देते हुए किसानों को गुंडा बताया। उनका कहना है कि यह प्रदर्शन आम किसान नहीं कर रहे हैं, बल्कि यह कुछ गुंडे है, जो प्रदर्शन कर रहे हैं। अनिल शर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार किसानों के हित मे कार्य कर रही है।

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के किसानों ने 27 नवंबर को प्रदेश भर के बड़े बड़े राज्य मार्गों को जाम कर दिया था। इसके साथ ही किसानों ने बुलंदशहर में दिल्ली-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दर्शन कर रहे थे।