दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल का विधायक इमरान हुसैन चढ़ा कोर्ट के हत्थे, ऑक्सीजन सिलेंडर में धांधली का आरोप…

आम आदमी पार्टी विधायक और दिल्ली के केजरीवाल सरकार के मंत्री इमरान हुसैन पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने ऑक्सीजन की जमाखोरी और साथ ही वितरण लगाने वाली याचिका पर जबाब मांगा है। बता दें कि अदालत ने इमरान हुसैन को कड़ी फटकार भी लगाई है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने विधायक इमरान हुसैन (आप) को नोटिस जारी करते हुए उनसे जबाब दाखिल करने को भी कहा है, साथ ही उन्हें 8 मई को अदालत में पेश होने के लिए भी कहा गया है।

इमरान पर लगा ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप :

अदालत में उक्त याचिका की सुनवाई करते वक़्त जिसमे आप विधायक पर ऑक्सीजन जमाखोरी का आरोप लगा है। वही कहा गया कि न सिर्फ इमरान हुसैन ऑक्सिन का वितरण कर रहे हैं बल्कि वह ऑक्सीजन की जमाखोरी भी कर रहे है। इस महामारी जैसे समय में इस तरह के आरोप किसी नेता पर लगना, अन्य नेताओं की छवि धूमिल करते हैं। जो इस वक़्त महामारी में बिना अपनी जान की परवाह किए बिना सेवाभाव से अपना कार्य कर रहे हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि याचिका की सुनवाई के वक़्त अदालत ने कहा कि पहले हमें ये पता करना होगा कि उन्हें ऑक्सीजन कहाँ से मिल रही है। उसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जायेगी। वही इस महामारी के वक़्त गुरुद्वारे भी ऑक्सीजन का वितरण कर रहे हैं लेकिन वे इस वक़्त अदालत में नही है। अदालत ने आगे कहा है अगर इमरान हुसैन के खिलाफ कोई उल्लंघन पाया जाता है तो उनपर कोर्ट की अवमानना के तहत कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

इमरान पर होगी सख्त कार्यवाही :

गौरतलब है कि अदालत में सुनवाई के वक़्त दिल्ली सरकार के स्थाई वकील ने कोर्ट को आश्वासन दिया कि ऑक्सीजन की जमाखोरी में इमरान हुसैन संलिप्त पाए जाते हैं। तो जमाखोरी में शामिल सभी व्यक्तियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी।

दिल्ली के केजरीवाल सरकार कर रहे हैं ऑक्सीजन की राजनीति :

आपको ये जानकर बेहद हैरानी होगी कि एक तरफ जहा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ऑक्सीजन की कमी का सारा बिल केंद्र सरकार पर फाड़ रहे हैं। जबकि सच्चाई यह कि उनके विधायकों और मंत्रियों व ऑक्सीजन की जमाखोरी की इल्जाम लग रहे हैं। अगर यह आरोप अदालत में सिद्ध हो गए तो दिल्ली सरकार जो ऑक्सीजन पर राजनीति कर रही हैं वो सबके सामने आ जायेगी।

Leave a Comment