कोरोना: बिहार के गया में आइसोलेशन वार्ड में 2 दिन तक हुआ महिला मरीज का रेप, महिला की हुई मौत

देश में बलात्कार की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही ताजा मामला बिहार के गया जिले के मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक महिला के साथ कथित रूप से दुष्कर्म किए जाने को लेकर खबर है| जहां महिला इलाज कराने के लिए गई लेकिन स्वास्थ्य कर्मी ने उनसे 2 दिन तक बलात्कार किया जिसकी वजह से महिला के पेट में पल रहे बच्चे और महिला की मौत हो गई|

मृतका की सास का आरोप है कि अस्पताल के कोरोना वार्ड में रहने के दौरान बहू के साथ वहां के माथे पर टीका लगाए एक स्वास्थ्य कर्मी के द्वारा लगातार दो दिनों तक दुष्कर्म किया गया| आरोप है कि 2 दिनों के बाद इसे कोरोना वार्ड (आइसोलेशन वार्ड) में शिफ्ट कर दिया गया जहां और कोई भी मरीज नहीं था दुष्कर्म की वजह से उसे ब्लडिंग होने लगी और उसका पेट में पल रहा बच्चा खराब हो गया उन्होंने कहा स्वास्थ्यय कर्मी में के द्वारा की गई गंदी हरकतों के बारे में बहु ने मुझे बताया था|

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि इलाज के बाद बांके बाजार के रोशनगंज की गर्भवती महिला घर लौट आई लेकिन 3 दिन बाद ही उस महिला की मौत हो गई| उसकी मौत के बाद पीड़ित परिजनों ने अस्पताल के ही एक कर्मचारी पर आरोप लगाया आरोप है कि 2 दिनों के बाद उसे कोरोनावायरस वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया जहां अन्य कोई भी मरीज नहीं था इस बीच महिला की तबीयत ठीक हो गई और 2 अप्रैल को अपने घर रोशन गंज लौटाई 6 मार्च को उसकी मौत हो गई| इधर गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा ने रविवार को बताया कि पीड़िता के परिजनों के बयान के आधार पर इस मामले की एक प्राथमिकी 8 अप्रैल को मेडिकल थाना में दर्ज कर ली गई|

इस मामले की जांच पुलिस अधीक्षक कर रहे हैं उन्होंने आगे बताया किया यह दुष्कर्म का मामला नहीं बल्कि यौन उत्पीड़न का मामला है इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया| पुलिस मामले की छानबीन कर रही है मृतका की सास फुलवा देवी ने आरोपित स्वास्थ्य कर्मी के खिलाफ रोशन गंज थाने में अपना बयान दर्ज कराया इसी आधार पर ही मेडिकल थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ विजय कृष्ण प्रसाद ने मामले की जांच के लिए टीम गठित किया|

Leave a Comment