फरीदाबाद, हरियाणा. आपको बता दें कि फरीदाबाद क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 की टीम ने ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी के आरोप में एक कांग्रेसं पार्टी के पूर्व नेता को गिरफ्तार किया है। वही उसके पास से 50 ऑक्सीजन सिलेंडर भी बरामद किए गए हैं। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

बता दे कि गिरफ्तार आरोपी बिजेंद्र मावी तिगांव विधानसभा से विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है। वही इसके अलावा कॉंग्रेस पार्टी के पूर्व नेता बिजेंद्र मावी जिला कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल का पदाधिकारी भी रह चुका है। हालांकि, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड ने बताया है कि बिजेंद्र मावी का अब कांग्रेस से कोई संबंध नहीं है और न ही अब वो कोई पदाधिकारी है।

मिली जानकारी के मुताबिक , क्राइम ब्रांच को मुखिबर से सूचना मिली थी एक युवक के पास बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन सिलेंडर हैं। वह उनकी कालाबाजारी भी करता है। सूचना के आधार पर तुरंत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप मोर द्वारा टीम का गठन किया गया। ड्रग कंट्रोल इंस्पेक्टर संदीप के साथ मिलकर बताए गए स्थान पर जाकर इसकी जांच की तो आरोपी की टाटा 407 गाड़ी में 42 सिलेंडर और साथ ही 8 सिलेंडर उसके घर से बरामद किए गए। वही उसके बाद जब आरोपी से सिलेंडर सप्लाई करने का लाइसेंस मांगा गया तो वह कोई भी दस्तावेज नहीं दिखा पाया । जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार किया गया। गाड़ी और इसके साथ ही सभी 50 सिलेंडर को भी जब्त कर लिए गए।

50 ऑक्सिजन सिलिंडर का ज़ख़ीरा किया गया ज़ब्त।

बता दे कि गिरफ्तार किए गए आरोपी ने अपना नाम बिजेन्द्र मावी निवासी इन्द्रा कॉम्पलेक्स बताया। वही आरोपी इससे पहले प्राइवेट कंपनियों में ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई का काम करता था। कोरोना महामारी काल में वह इन सिलेंडरों को प्राइवेट अस्पतालों में सप्लाई करने लगा। वह फरीदाबाद की विभिन्न एजेंसियों से सिलेंडर भरवाकर लाता था और फिर उसके बाद वो उसे आगे सप्लाई कर देता था।

रिमांड पर लिया गया आरोपी

बता दे कि आरोप है कि जब वह अस्पतालों के लिए सिलेंडर लेकर आता था तो वह उन सिलेंडर में से कुछ गैस निकाल लेता था और साथ ही उसे वो महंगे दामों पर जरूरतमंद लोगों को बेच देता था। पुलिस का ये भी कहना है कि रिमांड के दौरान आरोपी से पूछताछ की जाएगी कि वह सिलेंडर कहां से और साथ ही वो कितने में लाता है और लोगों को वो कितने में बेचता है। इसके अलावा आरोपी से यह भी पता किया जाएगा कि वह सिलेंडर कहां-कहां बेचता है।