Chattisgarh Naxal Attack: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर में शनिवार को कम से कम 22 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। इस हमले में कई जवानों के घायल होने की जानकारी मिली है। वहीं इस मामले में अब गृह मंत्रालय पूरी तरह से सख्त नजर आ रहा है। बता दें कि सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दौरे पर पहुंचे। उन्होंने जगदलपुर में सभी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी।

जबकि इस दौरान उनके साथ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी वहां पर मौजूद रहे। वहीं शाम तक गृह मंत्री अमित शाह Home Minister Amit Shah ने नक्सल घटना से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्थित बीजापुर जिले के बासागुड़ा में सीआरपीएफ कैंप पहुंचे और साथ ही मुठभेड़ में शामिल जवानों से मिलकर संवाद किया। यहां पर उन्होंने जवानों के साथ खाना भी खाया। उन्होंने कहा कि, “नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को मैं प्रधानमंत्री, मेरी ओर से और साथ ही देश की जनता की ओर से भावपूर्ण श्रद्धांजलि देता हूं। उनके बलिदान को देश भुला नहीं सकता। उनके परिवारों के प्रति देश की सहानूभूति है।”

आपको बता दें कि CRPF कैंप पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह Home Minister Amit Shah ने शहीद हुए जवानों की शहादत का बदला लेने के संकेत भी दिए। उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा है कि, “नक्सलवाद को समाप्त करने के उनके साहस और उनकी वीरता को नमन करता हूं और विश्वास से कह सकता हूं कि यह लड़ाई जल्द ही अंजाम तक पहुंचेगी।”

बता दे कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर में CRPF कैंप को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा है कि, “आप ने अपने कुछ साथी ज़रूर गवाएं हैं। आपके साथियों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। जिस उद्देश्य के लिए उन्होंने बलिदान दिया है, निश्चित रूप से वह उद्देश्य पूरा होगा और साथ ही जीत हमारी होगी।” उन्होंने आगे कहा है कि, “यह लड़ाई है और इस लड़ाई को हमें अंजाम तक पहुंचाना है। जो हथियार डालकर आना चाहते हैं उनका स्वागत है। लेकिन हाथ में अगर हथियार है तो फिर हमारे पास भी और कोई रास्ता नहीं है। कमियों को सुधारने के लिए तुरंत ही कार्रवाई करेंगे।”